Rajasthan COVID-19 Update: राजस्थान में कोरोना से अब तक की सर्वाधिक मौतें रिकाॅर्ड, 24 घंटे में सामने आए 16080 नए केस - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

Rajasthan COVID-19 Update: राजस्थान में कोरोना से अब तक की सर्वाधिक मौतें रिकाॅर्ड, 24 घंटे में सामने आए 16080 नए केस

जयपुर। Rajasthan COVID-19 Update: राजस्थान में कोरोना संक्रमण ( Coronavirus in Rajasthan ) के बढ़ते मामलों में फिर एक बार उछाल आया है. दो दिन से कुछ कम आ रहे नए मामले एक बार फिर मंगलवार को बढ़कर आए है. बीते 24 घंटे में राजस्थान कोरोना संक्रमण के 16080 नए मामले सामने आए हैं. वहीं इसी दौरान 169 कोरोना मरीजों ( Coronavirus Patients ) की मौत हो गई है. सबसे अधिक कोरोना से राजधानी जयपुर में 57 लोगों की मौत हुई है.

मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, राजधानी जयपुर कोरोना ( Coronavirus in Jaipur ) का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है. राज्य में जयपुर जिले में रोजाना कोरोना संक्रमितों के सर्वाधिक मामले सामने आने से सरकार की चिंता बढ़ी हुई है.

यह भी पढ़ेंः-  Rajasthan: कोविड मरीज को अब फ्री मिलेगी एबुंलेंस सेवा, किसी भी संक्रमित को भर्ती करने से मना नहीं कर सकेंगे अस्पताल

बीतेे 24 घंटे में राजधानी जयपुर में 3613 नए मामलों के साथ जोधपुर में 1303, उदयपुर में 1506, जैसलमेर में 860 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए. वहीं कोरोना से जयपुर में सबसे ज्यादा 57 लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा जोधपुर में 18, उदयपुर में 14 कोरोना संक्रमितों ने अपनी जान गंवाई है.

यह भी पढ़ेंः- JP Nadda ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, Corona के दौरान लोगों को गुमराह करने, भय पैदा करने का लगाया आरोप

राजस्थान सरकार की निशुल्क निशुल्क एंबुलेंस
राजस्थान में कोरोना महामारी से कोरोना संक्रमित मरीज और उनके परिजनों को एंबुलेंस को लेकर हो रही परेशानी को दूर करने के लिए राजस्थान सरकार ने राज्य में कोरोना संक्रमित मरीज को भर्ती, रेफर या छुट्टी मिलने पर निशुल्क एंबुलेंस सुविधा उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया है. साथ ही, राज्य सरकार ने एक और महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए कहा है कि जिस मरीज को भर्ती करने की जरूरत होगी उसे कोई भी अस्पताल किसी भी स्थिति में भर्ती करने से मना नहीं कर सकता. मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot ) ने इसके निर्देश चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ब्यूरोक्रेसी पर बवाल
ब्यूरोक्रेसी पर बवाल