rajasthan : ना कोरोना गाइडलाइन ना जान की परवाह..आनासागर झील में 200 और 500 के नोट तैरते देख बिना कुछ सोचे समझे कूद पड़ी जनता - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

rajasthan : ना कोरोना गाइडलाइन ना जान की परवाह..आनासागर झील में 200 और 500 के नोट तैरते देख बिना कुछ सोचे समझे कूद पड़ी जनता

अजमेर| कोरोना काल में सभी ठन-ठन गोपाल हो रहे है। कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन ने सभी को सड़क पर ला दिया है। लेकिन ज़रा विचार करिए जहां एक तरफ गरीबी में आटा गीला हो रहा हो वहां पर कोई नोट का बैग फेंक कर चला जाए तो आप क्या करेंगे ..आइये जानते है लोगों ने इस पर क्या किया। ताजा मामला राजस्थान के अजमेर से जुड़ा है। अजमेर के आनासागर झील में कुछ लोगों ने 200 और 500 के नोट तैरते देख लिए। लोगों का मानना है कि कोई यहां पर नोटों से भरा बैग फेंक गया। इसके बाद रविवार शाम को अचानक 200 और 500 के नोट तैरने की सूचना से आनासागर के नजदीक हड़कंप मच गया। जैसे ही लोगों ने नोटों को तैरते हुए देखा लोगों ने बिना कुछ सोचे समझे झील में कूदना शुरु कर दिया। इस रेस में कोई भी पीछे नहीं रहा। झील के किनारे मौजूद खानाबदोश झील में गोते लगाकर नोट इकट्ठा करते नजर आए, तो नगर निगम के कर्मचारी भी नाव लेकर नोट लूटने के लिए झील में उतर गए।

also read: Rajasthan Politics: मौसम की खराबी के कारण शिमला से नहीं निकल पायी प्रियंका, पायलट भी नहीं करेेंगे लैंड

कोरोना गाइडलाइन भी बही पानी में

नोटों की खबर सुन भीड़ जमा हो गई और नोटों को देखकर भीड़ पागल हो गई। जहां एक ओर सरकार ने भीड़ इक्कठी करने से मना कर रखा है तो वहीं नोटों के बात सुन शायद भीड़ से कंट्रोल नहीं हुआ और वह निकल पड़ी। भीड़ ने ना जान की परवाह की ना इस बात की कि हमारी इस लापरवाही से कोरोना संकमण फिर से फैल सकता है फिर से कोई नया रूप ले सकता है। इसके लिए सरकार ने हमें सतर्क किया है। सरकार ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करने को कहा है। लेकिन जनता कोरोना गाइडलाइवन का धज्जिया उड़ाती नज़र आई।

मौके पर पहुंच कर पुलिस ने भीड़ को भगाया

वहां पर किसी शख्स ने जब यह बात पास के गंज थाने में दी तो पुलिस ने मौके पर पहुंच कर वहां के हालातों का जायजा लिया और भीड़ को तुरंत वहां से भगाया।  वहीं, पुलिस इस जांच में जुट गई है कि झील में नोटों से भरा बैग किसने और क्‍यों फेंका? पुलिस के मुताबिक, 200 और 500 रुपये के नोट लूटने के लिए झील में गोता लगा रहे खानाबदोश मोहम्मद उस्मान ने बताया कि रविवार की शाम को अचानक कुछ नोट झील में तैरते हुए दिखे। इसके बाद कुछ लोग झील में नोट इक्कठा करने के लिए उतर गये। उस्मान ने बताया कि झील में 2500 रूपये उसके हाथ लगे। उस्मान के तो कोरोना काल में चांदी हो गई। तो कई अन्‍य गोताखोरों को भी झील से नकदी मिली है। यही नहीं, जब यह खबर पूरे शहर में फैली तो तमाम लोग नोट लूटने के लिए झील की तरफ दौड़ पड़े और बिना कुछ सोचे समझे झील में कूद पड़े।

आनासागर में मिलने वाले सभी नोट नये

आनासागर झील में नये नोट मिले है।  जिसमें सभी  200 और 500 के नोट शामिल हैं। लोगों को मिलने वालो नोटों में 200 ऍर 500 के नोट शामिल है। पुलिस द्वारा अंदाजा लगाया जा रहा है कि किसी युवक का पर्स झील में गिर गया होगा जिसमें से नोट निकल कर बाहर आए हैं। हालांकि कुछ लोग नोटों से भरे बैग की बात कर रहे हैं। आनासागर झील में नोट निकलने की सूचना पर आनासागर से जलकुम्भी हटा रहे अजमेर नगर निगम के कर्मचारी भी अपने काम को छोड़कर मौके पर आ पहुंचे और कुछ रुपये उनके भी हाथ लग गए। हालांकि खानाबदोश गोताखोर झील से नोट लूटकर रवाना हो गए। फिलहाल झील से नोट निकलना कौतूहल का विषय बना हुआ है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow