Emergency Landing Field National Highway: हाइवे पर लैंड होंगे लड़ाकू विमान
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Emergency Landing Field National Highway: हाइवे पर लैंड होंगे लड़ाकू विमान

Rajasthan : अब सीधे हाइवे पर लैंड हो सकेंगे लड़ाकू विमान, आज लैंडिंग में विमान में मौजूद रहेंगे राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी

जयपुर | राजस्थान में पाकिस्तानी सीमा से सटे सरहदी इलाके में आज भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) इतिहास रचने जा रही है। ‘इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड’ (ईएलएफ) के रुप में देश को पहला ऐसा नेशनल हाईवे मिलने जा रहा है। यहां सेना के लड़ाकू विमानों को सीधे हाइवे पर लैंड (Emergency Landing Field National Highway) कराया जा सकेंगा। सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और रक्षामंत्री राजनाथ आज इसका उद्घाटन करने जा रहे हैं। देश में पहली बार हाईवे पर इमरजेंसी लैंडिंग के दौरान विमान में खुद देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari ) मौजूद रहेंगे। यहीं नहीं, इस दौरान राजनाथ सिंह एमआरसैम मिसाइल को वायुसेना के जंगी बेडे में भी शामिल करेंगे।

ये भी पढ़ें :- Survey report : 15 राज्यों में देश के 48% स्कूली बच्चे अब पढने-लिखने में भी अक्षम

केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी ’भारतमाला-प्रोजेक्ट’ का हिस्सा
राजस्थान के बाड़मेर जिले में बने इस नेशनल हाइवे पर भारतीय वायुसेना अपने लड़ाकू विमान उतार सकेगी। आज भारतीय वायुसेना के सी-130जे सुपर-हरक्युलिस विमान में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी इमरजेंसी लैंडिंग ड्रिल (Emergency Landing Field National Highway) में भाग लेंगे। ये नया हाईवे केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी ’भारतमाला-प्रोजेक्ट’ का हिस्सा है। रक्षा मंत्री और परिवहन मंत्री का प्लेन बाडमेर के नेशनल हाईवे नंबर 925 पर इमरजेंसी लैडिंग करेगा। आपात परिस्थितियों के लिये भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत बने नेशनल हाइवे-925ए पर हवाई पट्टी बनाई गई है। इसका इस्तेमाल वायुसेना इमर्जेंसी में कर सकेगी।

ये भी पढ़ें :- भारत के PM नरेन्द्र मोदी आज करेंगे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता, चीन के राष्ट्रपति को भी पीएम मोदी का निमंत्रण

वायुसेना के जंगी बेड़े में शामिल होगी ‘एमआरसैम मिसाइल’
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एमआरसैम मिसाइल को वायुसेना के जंगी बेडे में भी शामिल करेंगे। मध्यम दूरी की जमीन से आसमान में मार करने वाली एमआरसैम मिसाइल (MRSAM-Barak-8 Missile) भारत ने इजरायल की मदद से तैयार की है। इस मिसाइल की रेंज 70-100 किलोमीटर तक की है। इसका इस्तेमाल आसमान में दुश्मन के ड्रोन, हेलीकॉप्टर और फाइटर जेट्स को मार गिराने के लिए किया होता है। डीआरडीओ थलसेना के लिए भी इस एमआरसैम मिसाइल का निर्माण कर रही है और हाल ही में इसके सफल परीक्षण भी किए गए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
स्वतंत्रता के साथ मर्यादा भी जरूरी
स्वतंत्रता के साथ मर्यादा भी जरूरी