Rajasthan Politics Crisis: राजस्थान में गरमाने लगा राजनीतिक माहौल
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Rajasthan Politics Crisis: राजस्थान में गरमाने लगा राजनीतिक माहौल

Rajasthan Politics Crisis: फिर से न सुलग जाए सियासी चिंगारी, राजस्थान में गरमाने लगा राजनीतिक माहौल!

जयपुर। Rajasthan Politics Crisis: देश जहां कोरोना महामारी से लोगों को बचाने की जद्दोजहद चल रही है, वहीं राजस्थान में दबी हुई सियासी चिंगारी वापस से सुलगती दिख रही है. जिसके चलते एक बार फिर से राजनीतिक माहौल गरमाने लगा है. मंगलवार को कांग्रेस के विधायक हेमाराम चौधरी ( Hemaram Choudhary ) के विधानसभाध्यक्ष को इस्तीफा भेजे जाने के बाद राजस्थान में फिर से सियासी संकट के बादल मंडराने लगे हैं. हेमाराम चौधरी के इस्तीफे को पायलट खेमे के अंदर सुलग रहे अंगारों के तौर पर भी देखा जा रहा है. जो आने वाले दिनों में फिर से सियासी संकट की वजह बन सकता है. Sachin Pilot खेमे को लेकर राज्य सरकार की उदासीनता के चलते इस बार फिर से कई विधायक नाराज दिखाई दे रहे हैं. इन सबके बीच निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने भी हेमाराम चौधरी के इस्तीफे पर वार करते हुए इशारों में हेमाराम चौधरी और अशोक गहलोत विरोधियों पर ट्वीट के जरिए निशाना साधने की कोशिश की है.


ये भी पढ़ें:- Rajasthan: BJP विधायक Gautam Lal Meena का कोरोना से निधन, प्रदेश में अब तक चार विधायकों को लील गया Corona

हेमाराम चौधरी के इस्तीफे को पायलट खेमे का एक बड़ा दांव माना जा रहा है. पायलट खेमे की इस चाल से गहलोत सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती है. सुत्रों की माने तो पायलट खेमा इस मुद्दे को कांग्रेस पार्टी आलाकमान के सामने उठाने की पूरी कोशिश करेगा. अगर हेमाराम चौधरी का इस्तीफा सोची समझी रणनीति के तौर पर दिया गया है तो राजस्थान में बड़ा सियासी भूचाल भी आ सकता है.

ये भी पढ़ें:-  Political Crisis in Rajasthan: पायलट गुट के विधायक हेमाराम चौधरी ने दिया इस्तीफा, Gehlot सरकार से चल रहे हैं नाराज!

गौरतलब है कि सचिन पायलट खेमा मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों में सरकार द्वारा की जा रही देरी को लेकर काफी नाराज चल रहा है. मीडिया से बातचीत में खुद सचिन पायलट ने साफ कह चुके हैं कि अब देरी का कोई कारण नहीं है. बता दें कि पिछले साल भी कोरोना संक्रमण जब अपने चरम पर था तब भी राजस्थान की गहलोत सरकार पर बड़ा सियासी संकट आया था. लेकिन काफी दांव-पेच के बाद इस संकट से गहलोत सरकार उबर गई थी.

ये भी पढ़ें:- Rajasthan पुलिस महकमे में Honey Trap! महिला कांस्टेबल ने उप अधीक्षक पर लगाए बलात्कार के आरोप, ऐसे खेला गंदा खेल

विधायक संयम लोढ़ा ने छोड़ा ट्विटर से तीर
विधायक हेमाराम चौधरी के इस्तीफे को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है. निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने हेमाराम चौधरी के इस्तीफे पर पलटवार करते हुए इशारों में हेमाराम चौधरी और अशोक गहलोत विरोधियों पर ट्वीट के जरिए निशाना साधने की कोशिश की है. संयम लोढ़ा ने ट्विटर करते हुए लिखा कि, कोविड 19, ताऊते चक्रवात ….. लोगों को संभालें या घरवालों को….. घरवालों से संयम का इशारा कांग्रेस के ही असंतुष्ट विधायकों को लेकर है. अपने ट्वीट में स्वयं लोढ़ा ने राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और प्रदेश प्रभारी अजय माकन को भी टैग किया है.

सूत्रों की माने तो संयम लोढ़ा ने भले ही अपने इस ट्वीट में किसी का नाम न लिया हो लेकिन उनका इशारा हेमाराम चौधरी पर ही है. बता दें कि निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विरोधियों पर अक्सर ट्विटर के जरिए निशाना साधते दिखाई देते हैं.

पढ़िए Rajasthan Politics News in Hindi सिर्फ नया इंडिया पर

Latest News

Rajasthan में फिर टल सकता हैं मंत्रिमंडल में फेरबदल, अगस्त तक करना होगा इंतजार!
जयपुर | Rajasthan Cabinet Reshuffle: पंजाब की राजनीति में चल रही उठापटक को सुलझाने के बाद अब कांग्रेस आलाकमानों का पूरा फोकस…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});