Rajasthan का सियासी खेलाः कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक भंवरलाल शर्मा बोले- मैं भी बनना चाहता था सीएम, लेकिन गहलोत ने नहीं दिया साथ! - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

Rajasthan का सियासी खेलाः कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक भंवरलाल शर्मा बोले- मैं भी बनना चाहता था सीएम, लेकिन गहलोत ने नहीं दिया साथ!

जयपुर । Rajasthan Political Drama : राजस्थान में चल रहे सियासी ‘खेला’ में हर रोज कुछ न कुछ नया खेला देखने को मिल रहा है। इस सियासी लड़ाई में कई विधायक अपने मन की बात कह चुके हैं। ऐसे अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं चूरू के सरदार शहर से विधायक पंडित भंवरलाल शर्मा (Bhanwar Lal Sharma) ने भी अपने मन की बात लोगों के सामने रखी है। उन्होंने सचिन पायलट (Sachin Pilot) पर मीठी छुरी चलाते हुए कहा कि, मैंने भी कभी सरकार गिराने की कोशिश की थी, लेकिन अशोक गहलोत ने मेरा साथ नहीं दिया। वरना मैं भी मुख्यमंत्री होता। मुझे उस बात का मलाल आज भी है। कई बार इच्छा का दमन करना पड़ता है। इसी के साथ भंवरलाल शर्मा ने ये भी कहा कि, अब दो महीने तक सीएम किसी से मिलने वाले नहीं हैं। ऐसे में मंत्रिमंडल विस्तार भी नहीं होगा।

ये भी पढ़ें:- Rajasthan : ATS ने पाक के लिए जासूसी करने के आरोप में जैसलमेर से एक युवक को किया गिरफ्तार, हनीट्रैप से जुड़ा है मामला

सीएम गहलोत के प्रति वफादारी या फिर पायलट पर वार
विधायक भंवरलाल शर्मा ने राजधानी जयपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सीएम गहलोत के प्रति अपनी वफादारी और निष्ठा को दिखाने का प्रयास किया है या फिर सचिन पायलट पर वार। यह तो वे ही जाने।

ये भी पढ़ें:- Breaking News: लोजपा में फूट के बाद पहली बार चिराग ने दी प्रतिक्रिया, पार्टी को बताया मां जैसा…

सचिन पायलट से ऊपर अशोक गहलोत
भंवरलाल शर्मा ने कहा कि, मैं सचिन पायलट को भी नेता मानता हूं, सचिन से भी मेरे अच्छे संबंध हैं। उन्हें पद की कोई इच्छा नहीं है और सचिन पायलट भाजपा का दामन नहीं थामने वाले हैं। लेकिन अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) उनसे भी ऊपर हैं। गहलोत मेरे नेता थे और रहेंगे। मेरी मंत्री बनने की कोई इच्छा नहीं है। अब तो सीएम बनाए तो भी नहीं बनूंगा।

ये भी पढ़ें:-  rajasthan : अजमेर की वर्षा ने पेश की बलिदान की मिसाल, कैंसर पीड़ितों के चेहरे पर खुशी लाने के लिए दान किए बाल

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *