rajasthan : अजमेर की वर्षा ने पेश की बलिदान की मिसाल, कैंसर पीड़ितों के चेहरे पर खुशी लाने के लिए दान किए बाल - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

rajasthan : अजमेर की वर्षा ने पेश की बलिदान की मिसाल, कैंसर पीड़ितों के चेहरे पर खुशी लाने के लिए दान किए बाल

Ajmer: राजस्थान के कण-कण में बसा है बलिदान और साहस। फिर बात अमृता देवी की हो या महाराणा प्रताप की।  अमृता देवी ने पेड़ों की रक्षा के लिए अपने प्राण त्याग दिए। राजस्थान के अजमेर में एक ऐसी ही बलिदानी का उदाहरण देखने को मिला है। जहां एक महिला ने किसी की खुशी के लिए अपनी सुंदरता के प्रतीक अपने बालों का दान दे दिया। महिला ने अपने लंबे बाल कैंसर पीड़ित के लिए दान दिये है। इन बालों से कैंसर पीड़ित महिलाओं की विग बनाई जा सकें। इस बाबत महिला ने अपने बाल दान कर दिए। महिला की इस अनोखी पहल से किसी के चेहरे पर खुशी आएगी। इस बात से महिला बहुत खुश है।

अजमेर की बेटी वर्षा कुमावत ने अपनी एक अनूठी पहल के जरिए सभी को चौंका दिया है.

also read: rajasthan : ना कोरोना गाइडलाइन ना जान की परवाह..आनासागर झील में 200 और 500 के नोट तैरते देख बिना कुछ सोचे समझे कूद पड़ी जनता

सोशल मीडिया जानकारी प्राप्त कर गुजरात की एक संस्था को किया दान

कैंसर पीड़ितो के लिए देश भर में अनेक संस्थाएं  है जो बहुत सराहनीय काम कर रही है। लेकिन अजमेर की बेटी वर्षा कुमावत ने अपनी एक अनूठी पहल के जरिए सभी को चौंका दिया है। वर्षा ने पितृ सत्तात्मक समाज की परंपरा को चुनौती देते हुए अपने बाल कैंसर पीड़ित मरीजों के कल्याण के लिए काम करने वाली गुजरात की एक संस्था को डोनेट किये हैं। अपने इस फैसले पर वर्षा को अत्यंत गर्व है। वर्षा उत्साहित होकर कहती है कि उन्होंने अपने बाल डोनेट करने का फैसला 2019 में ही कर लिया था। लेकिन कैसे, कब, क्या करना हा उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी। सोशल मीडिया से वर्षा ने सारी जानकारी प्राप्त की। वर्षा के इस फैसले में उनके परिवार का भी पूरा सहयोग मिला। आखिरकार उन्होंने अपने फैसले को साकार करते हुए अपने बाल डोनेट कर दिए।

अनूठी पहल: अजमेर की युवती ने कैंसर पीड़ितों के लिये डोनेट किये अपने खूबसूरत बाल, जानिये पूरी कहानी Rajasthan News-Ajmer News-Unique initiative-young girl donated her beautiful hair for cancer victims

इससे पहले रीवा भी कर चुकी है बालों का दान

बलिदानी की मिसाल पेश करने वाली यह पहली महिला नहीं है। इससे पहले भी एक महिला ऐसा कर चुकी है। महिला का नाम वर्षा बताया जा रहा है। इससे पहले जिस युवती ने अपने बालों का दान किया था उसका नाम रीवा है। अपने बाल डोनेेट कर किसी के चेहरे पर मुस्कान लाने वाली दोनों ही महिलाएं बहुत खुश है। इन दोनों युवतियों ने बलिदानी की अनोखी मिसाल कायम की है। महिलाओं को अपने बालों से अत्यंत प्रेम होता है। इन युवतियों ने अन्य लोगों से भी अपील की है कि वे भी पीड़ितों के चेहरों पर मुस्कुराहट लाने के लिये आगे आयें। वर्षा से पहले अजमेर की एक और बेटी रीवा ने भी साल 2019 में मुंबई की एक संस्था को अपने बाल डोनेट किये थे। रीवा को जब वर्षा के बारे में पता चला तो उन्हें भी बेहद खुशी हुई। रीवा ने अजमेर में धीरे धीरे बढ़ रहे इस नेक काम को जल्द ही संगठित रूप से कर समाज में जनचेतना जागृत करने की इच्छा भी जताई। रीवा मेयो गर्ल्स की छात्रा है।

वर्षा और रीवा अपने इस फैसले से काफी खुश हैं

महिलाओं के सुंदरता को बढ़ाने के लिए बाल सबसे महत्वपूर्ण होते है। महिलाए अपने बालों को सजाने के लिए अलग काम करती है। लेकिन महिलाएं एक बार किसी चीज को मन में ठान लें तो उसको पूरा करके ही दम लेती है। वर्षा और रीवा अपने इस फैसले से काफी खुश हैं। बाल डोनेट करने की खुशी उनके चेहरे पर भी देखते ही बनती है। सच भी है कि किसी दूसरे के चेहरे पर मुस्कुराहट लाने के लिए उठाया गया हमारा एक छोटा सा कदम जीवनभर के लिए हमें खुशियों का पिटारा सौंप देता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *