Rajnath Singh Indira Gandhi राजनाथ ने इंदिरा गांधी को याद किया
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Rajnath Singh Indira Gandhi राजनाथ ने इंदिरा गांधी को याद किया

राजनाथ ने इंदिरा गांधी को याद किया

नई दिल्ली। देश के विकास में महिलाओं की भागीदारी की चर्चा करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को बड़े आदर के साथ याद किया और उनकी तारीफ की। उन्होंने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध के दौरान इंदिरा ने न केवल कई साल तक देश की कमान संभाली, बल्कि युद्ध के समय नेतृत्व भी किया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के खिलाफ जंग जीत कर एक नया देश बांग्लादेश बना दिया। Rajnath Singh Indira Gandhi

Read also महंगाई के बीच त्योहारी सीजन में खाने का तेल हुआ सस्ता, आम जनता को राहत के लिए सरकार ने उठाया कदम

शंघाई सहयोग संगठन, एससीओ की बैठक को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि राष्ट्र के विकास में महिला शक्ति की भूमिका को लेकर भारत का अनुभव सकारात्मक रहा है। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और रानी लक्ष्मीबाई का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि प्रतिभा पाटिल भारतीय सशस्त्र बलों की सर्वोच्च कमांडर भी थीं। रक्षा मंत्री ने कहा कि इतिहास में कई मौके ऐसे आए, जब देश और लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए महिलाओं ने हथियार उठा लिए। इनमें रानी लक्ष्मीबाई प्रमुख हैं।

Read also दिल्ली दंगा: नौ आरोपियों के खिलाफ आरोप तय

राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि महिलाएं सदियों से रक्षक की भूमिका निभाती आई हैं। नवरात्रि पर माता के रूपों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि सरस्वती शिक्षा और बुद्धि की देवी हैं तो वहीं मां दुर्गा युद्ध, शक्ति और विनाश की देवी हैं। उन्होंने कहा- भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल है, जहां महिलाओं को सशस्त्र बलों में शामिल करने के लिए पहल की गई और स्थायी कमीशन के तौर पर उनकी भर्ती की जाने लगी।

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय महिलाएं एक सौ साल से भी पहले से सैन्य नर्सिंग क्षेत्र में सेवाएं दे रही हैं। भारत की सेना में 1992 में महिला अधिकारियों की भर्ती शुरू हुई थी। सेना की ज्यादातर शाखाओं में अब महिला अधिकारियों की भर्ती की जाने लगी है। अगले साल से राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में महिलाएं प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगी। नौसेना में महिलाओं की भूमिका पर बात करते हुए राजनाथ ने कहा कि 1993 में एयर ट्रैफिक कंट्रोल में शुरुआत करते हुए महिला अधिकारियों ने 2016 में समुद्री टोही विमान के पायलट बनने के लिए ग्रेजुएशन किया। अब उन्हें पिछले साल से युद्धपोतों पर नियुक्त किया जाने लगा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बेरोजगार युवकों से नौकरी के नाम पर ठगे 6 करोड़
बेरोजगार युवकों से नौकरी के नाम पर ठगे 6 करोड़