टिकैत ने सितंबर तक का समय दिया | rakesh tikait threatened Naya India
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| टिकैत ने सितंबर तक का समय दिया | rakesh tikait threatened %%sitename%%

टिकैत ने सितंबर तक का समय दिया, 22 जुलाई से हर दिन संसद पर प्रदर्शन करने का ऐलान

rakesh tiket

rakesh tikait threatened नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में पिछले सात महीने से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे किसान इस महीने से अपना आंदोलन तेज करने वाले हैं। किसानों ने 22 जुलाई से हर दिन संसद भवन पर प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने केंद्र सरकार को सितंबर तक किसानों की मांग मांनने की चेतावनी देते हुए कहा है कि उसके बाद किसान बड़ा आंदोलन करेंगे।

toofan Boycott : रिलीज होने से पहले ही फरहान अख्तर की ‘तूफान’ बनी बॉयकॉट का कारण, लेकिन क्यों..

farmer protest

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए सितंबर तक का समय दिया है। उन्होंने ट्विट करके कहा- सरकार किसानों की बात मान कर कानून वापस ले, एमएसपी को कानून बनाए अन्यथा इस बार संघर्ष बड़ा होगा, किसानों के ट्रैक्टर लाल किले का ही नहीं संसद का भी रास्ता जानते हैं। इससे पहले राकेश टिकैत शनिवार को अपने काफिले के साथ कुंडली बार्डर पर चल रहे कृषि कानून विरोधी आंदोलन स्थल पर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि संयुक्त मोर्चा बातचीत के लिए हमेशा तैयार है, लेकिन यह भी तय है कि आंदोलनकारी तीनों कृषि कानूनों के रद्द होने तक घर वापसी नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि बिना शर्त वार्ता हो तभी किसान उसमें शामिल होंगे।

मेरे भारत की बेटी..भारतीय मूल की सिरिषा बांडला आज भरेगी ब्रिटेन के अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन के साथ अंतरिक्ष की उड़ान

rakesh tikait threatened राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्र सरकार की शर्तों पर बातचीत नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार कितनी भी साजिश रच ले, हमलोग पीछे हटने वाले नहीं है। 22 जुलाई से संसद के मॉनसून सत्र के दौरान रोजाना कम-से-कम दो सौ आंदोलनकारी धरनास्थलों से संसद भवन पहुंचेंगे और वहां पर प्रदर्शन करेंगे। धरनास्थलों से सभी लोग बसों या कारों के जरिए संसद तक जाएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
UP Elections 2022 से पहले सपा की बढ़ी मुसीबत, मान्यता रद्द करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर
UP Elections 2022 से पहले सपा की बढ़ी मुसीबत, मान्यता रद्द करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर