nayaindia release of medical books in hindi हिंदी में मेडिकल की किताबों का विमोचन
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | मध्य प्रदेश| नया इंडिया| release of medical books in hindi हिंदी में मेडिकल की किताबों का विमोचन

हिंदी में मेडिकल की किताबों का विमोचन

भोपाल। मध्य प्रदेश पहला राज्य बना है, जहां मेडिकल की पढ़ाई हिंदी में होगी। रविवार को इसके पहले साल के कोर्स की हिंदी किताबों का विमोचन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने किया। अमित शाह ने राजधानी भोपाल में तीन किताबों का विमोचन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा- ये क्षण देश में शिक्षा क्षेत्र के पुनर्निर्माण का क्षण है। सबसे पहले मेडिकल की शिक्षा हिंदी में शुरू करके शिवराज सिंह ने मोदी जी की इच्छा पूरी की है।

उन्होंने कहा कि देश भर में आठ भाषाओं में पढ़ाई हो रही है। यूजी नीट देश की 22 भाषाओं में हो रही है और 10 राज्य इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृभाषा में करवा रहे हैं। अमित शाह ने आगे कहा- मेडिकल, इंजीनियरिंग में जो मातृभाषा के समर्थक हैं, उनके लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। अब हमें अपनी भाषा में शिक्षा मिलेगी। शाह ने कहा- मध्य प्रदेश का चुनाव जब हो रहा था, घोषणापत्र के भीतर यह जिक्र था। मोदी जी की नई शिक्षा नीति को सबसे पहले मध्य प्रदेश ने जमीन पर उतारा है। आज यह नई शुरुआत हो रही है। इसके लिए हिंदी प्रकोष्ठ का गठन हुआ।

गृह मंत्री ने कहा- सोचने की प्रक्रिया अपनी मातृभाषा में ही होती है, इसलिए नेल्सन मंडेला ने कहा थाकि यदि आप किसी व्यक्ति से उस भाषा में बात करते हो तो वह उसके दिमाग में जाती है। अनुसंधान अपनी भाषा में हो तो भारत के युवा भी किसी से कम नहीं हैं। वो विश्व में भारत का डंका बजाकर आएंगे। उन्होंने कहा- मध्य प्रदेश ने मेडिकल की पढ़ाई हिंदी में कराने संकल्प लिया है। इससे देश में क्रांति आएगी। कुछ दिनों बाद इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी हिंदी में शुरू होगी। इसके लिए सिलेबस के अनुवाद का काम शुरू हो गया है। छह महीने बाद, पॉलिटेक्निक और इंजीनियरिंग की पढ़ाई हिंदी में करने का मौका मिलेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 1 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
राम जन्मभूमि को बम से उड़ाने की धमकी के बाद पुलिस अलर्ट, सामने आई ये बात
राम जन्मभूमि को बम से उड़ाने की धमकी के बाद पुलिस अलर्ट, सामने आई ये बात