• डाउनलोड ऐप
Wednesday, May 12, 2021
No menu items!
spot_img

कोरोना से जंग में भारत को मिला एक और हथियार, इस वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी

Must Read

नई दिल्ली। देश में बेकाबू हुए कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए भारत को अब एक और हथियार मिल गया है। भारत में एक और कोरोना वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है। केंद्रीय औषधि प्राधिकरण की एक विशेषज्ञ समिति ने कुछ शर्तों के साथ रूसी कोरोना वैक्सीन ‘स्पुतनिक-वी’ (Russian Corona Vaccine Sputnik-V) के आपात इस्तेमाल की मंजूरी के लिए सिफारिश की है।

यह भी पढ़ें:- महाराष्ट्र में 10वीं-12वीं की परीक्षाएं स्थगित होने के बाद राजस्थान सरकार का भी बड़ा फैसला, इन कक्षाओं के विद्यार्थी होंगे प्रमोट

भारत में तीसरा कोरोना वैक्सीन होगा ‘Sputnik-V’
केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन की विषय विशेषज्ञ समिति की मंजूरी के बाद भारत का औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) अंतिम फैसला लेगा। यहां से मंजूरी मिलने के साथ ही स्पुतनिक-वी तीसरा कोरोना वैक्सीन होगा, जिसका टीका लगाया जा सकेगा।

10 करोड़ से ज्यादा को लग चुका है भारतीय टीका
भारत में अभी एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से तैयार ‘कोविशील्ड’ तथा भारत बायोटेक-आईसीएमआर की ‘कोवैक्सीन’ का टीका लगाया जा रहा है। भारत में अब तक इन दो वैक्सीनों की 10 करोड़ से अधिक खुराक लगाई जा चुकी है।

यह भी पढ़ें:- ड्रेस को लेकर निशाने पर प्रियंका चोपड़ा, ट्रोलर्स ने कहा- लगता है कुछ पहनना भूल गई एक्ट्रेस

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह हैदराबाद स्थित दवा कंपनी डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज ने भारत सरकार से स्पूतनिक वी के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी की इजाजत मांगी थी। यह वैक्सीन 9.1.6 फीसदी प्रभावी है और यूएई, भारत, वेनेजुएला और बेलारूस में फेज 3 के क्लीनिकल ट्रायल पर है। सितंबर 2020 में रसियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड ने डॉ रेड्डीज से भारत में क्लीनिकल ट्रायल के लिए पार्टनरशिप की थी। इसके अलावा त्क्प्थ् ने भारत में प्रतिवर्ष 20 करोड़ डोज के उत्पादन के लिए मार्च में विरचो बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड से समझौता किया था।
यह भी पढ़ें:-

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

कांग्रेस के प्रति शिव सेना का सद्भाव

भारत की राजनीति में अक्सर दिलचस्प चीजें देखने को मिलती रहती हैं। महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में...

More Articles Like This