ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Sachin Pilot Meet Priyanka Gandhi: पायलट ने प्रियंका गांधी से की मुलाकात

गरमाई राजस्थान की सियासत! अजय माकन के जयपुर आने से पहले पायलट पहुंचे दिल्ली, प्रियंका गांधी से की मुलाकात

जयपुर | Rajasthan Political Drama: राजस्थान में चल रहे सियासी संग्राम के अभी खत्म होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल (Ashok Gehlot Cabinet Reshuffle) को लेकर अब सियासत राजस्थान से लेकर दिल्ली तक गरमा गई है। राजस्थान में दो दलों में बटी कांग्रेस को फिर से एक करने की कोशिशें लगातार जारी रही, लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया है। ऐसे में कांग्रेस प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) के मंगलवार शाम को जयपुर पहुंचने से पहले ही सचिन पायलट (Sachin Pilot) दिल्ली पहुंच गये और पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रियंका गांधी (Sachin Pilot Meet Priyanka Gandhi) से मुलाकात की।

सूत्रों की माने तो सचिन पायलट ने आलाकमानों से साफ कह दिया है कि उनसे किए गए वादों में अब किसी भी तरह की कोई कांट छांट न की जाए। गहलोत सरकार से नाराज चल रहे सचिन पायलट अब दो दिन दिल्ली में ही रहेंगे।

ये भी पढ़ें:- सस्पेंस खत्म ! बसवराज बोम्मई ने कर्नाटक के सीएम पद की ली शपथ, समारोह में लगते रहे भारत माता की जय के नारे…

पार्टी जुटी संग्राम पर लगाम लगाने में
Sachin Pilot Meet Priyanka Gandhi: पंजाब कांग्रेस पैदा हुई उठा पटक अब शांत हो गई लेकिन राजस्थान में पिछले साल से चली आ रही सियासी लड़ाई थमने का नाम नहीं ले रही है। राजस्थान में गहलोत सरकार के खिलाफ सचिन पायलट अपने बगावती तेवर दिखा चुके हैं। लेकिन अशोक गहलोत भी उन्हें अभी तक कोई पद नहीं दे रहे हैं। पायलट की मांग को लगातार दरकिनार किया जा रहा है। ऐसे में राज्य में पाॅलिटिकल ड्रामा लगातार जारी है। अब कांग्रेस के आलाकमान इस सियासी लगाड़ी को खत्म करने की पूरी पुरजोर कोशिश में जुटे हैं।

ये भी पढ़ें:- भारत-अमेरिकी संबंधों को मिलेगा बल, अमेरिकी विदेश मंत्री दो दिन के दौरे पर भारत पहुंचे, कई मुद्दों पर होगी चर्चा

राज्य के विधायकों से अजय माकन ले रहे फीडबैक
कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने राजस्थान आकर पूरे हालातों का जायजा लिया है और अब अजय माकन ने जयपुर में दो दिनों तक गहलोत सरकार के प्रस्तावित मंत्रिमंडल विस्तार तथा फेरबदल को लेकर उनके समर्थक सभी विधायकों से राय मशविरा कर फीडबैक ले रहे हैं। ऐसे में गहलोत सरकार के कई मंत्रियों को अपनी कुर्सी जाने का डर भी सता रहा हैं।

ये भी पढ़़ें:- केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान, अगल 5 सालों तक दिल्लीवालों के लिए बिजली की दरों में कोई कटौती नहीं..

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
डेल्टा प्लस वैरिएंट से तीन मौत, वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके थे !