आत्मनिर्भर भारत लिखेगा नई इबारत: भाजपा

देवरिया। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि आत्मनिर्भर भारत नई इबारत लिखने की ओर अग्रसर है और इसके लिए देश के प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में काम किया जा रहा है। भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डाॅ0 धर्मेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को यहां वर्चुअल प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि उद्योग व अर्थ-व्यवस्था पर कोविड-19 के स्पष्ट तौर पर बढ़ते जा रहे प्रतिकूल प्रभाव के चलते ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ एक संबल बन कर उभरा है।

उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत नई इबारत लिखने की ओर अग्रसर है और इसके लिए देश के प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में काम किया जा रहा है। वैश्विक महामारी ने व्यवसायों व रोजग़ार की संवहनीयता व निरंतरता के लिये कई प्रकार की उलझनें उत्पन्न कर दी थीं। लोगों को विशेषकर किसान, दिहाड़ी श्रमिक,ठेले खोमचे वाले और व्यापारियों के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत उनके कल्याण के लिए कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कहा करीब तीन महीने के लाॅकडाउन में आर्धिक गतिविधियां मंद गति से चल रही थी। दुनिया के विभिन्न देश भी इस समस्या से गुजर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने नागरिकों को भरोसा दिया है कि देश में अन्न की कोई कमी नहीं है. अपना देश अन्य देशों को अनाज दे सकता है। इसी को देखते हुए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत प्रधानमंत्री ने देश के गरीब तबके के लोगों को मुफ्त में अनाज देकर इस महामारी के बीच उनको राहत देने का कार्य किया है।

सिंह ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत क्षतिग्रस्त अर्थ-व्यवस्था के पुनरुत्थान के लिये आवश्यक प्रोत्साहन प्रदान किया जा रहा है। इस अभियान के तहत देश की विकासात्मक यात्रा को एक ताज़ा गति-शक्ति प्रदान करने के लिए लागू किया गया है। इसमें न केवल उद्योगों के सभी वर्ग समाविष्ट हैं, अपितु इस की संरचना समाज के भी सभी वर्गों की आवश्यकताओं की पूर्ति करने में भी सक्षम है।
उन्होंने बताया कि इस योजना से तीन लाख करोड़ रुपए मूल्य के कोलेट्रल-फ्ऱी ऑटोमैटिक लोन्स इस समय तनाव में चल रहे ‘सूक्षम-लघु व मध्यम उद्यमों’ (एमएसएमईज) को निश्चित तौर पर बड़ी राहत प्रदान करने वाला है। सरकार का पैकेज ‘मगनरेगा’ के तहत अतिरिक्त कार्य-दिवसों द्वारा कामगारों के कल्याण तथा शहरी कर्मचारियों के लिए सस्ते आवासीय स्थान उपलब्ध करवाने हेतु भी तैयार किया गया है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के तहत प्रवासी परिवारों को कम कीमत पर अनाज दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares