nayaindia Shinde met Fadnavis फड़नवीस से मिले शिंदे
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| Shinde met Fadnavis फड़नवीस से मिले शिंदे

फड़नवीस से मिले शिंदे

devendra fadanvis BJP

मुंबई/गुवाहाटी। महाराष्ट्र भाजपा के नेता बार बार कह रहे हैं कि शिव सेना के विधायकों के बागी होने और राज्य छोड़ कर दूसरी जगह जाने के घटनाक्रम से उनका कोई लेना-देना नहीं है लेकिन बागी विधायकों के नेता एकनाथ शिंदे की पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से मुलाकात की खबर से भाजपा का गेम प्लान जाहिर हो गया है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में नई सरकार बनाने के लिए दोनों नेताओं की गुप्त मुलाकात हुई है। सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को देर रात में गुजरात के वडोदरा में दोनों नेताओं की मुलाकात हुई।

जानकार सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को देर रात एकनाथ शिंदे गुवाहाटी से वडोदरा पहुंचे थे। वहां उनकी मुलाकात महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में भाजपा विधायक दल के नेता देवेंद्र फड़नवीस से हुई। इस मुलाकात के बाद शिंदे रात में ही गुवाहाटी लौट गए। यह भी बताया जा रहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी शुक्रवार को किसी कार्यक्रम के सिलसिले में वडोदरा में थे। हालांकि फड़नवीस और शिंदे की मुलाकात के दौरान उनके होने की कोई खबर नहीं है।

बहरहाल, फड़नवीस से मिल कर लौटने के बाद शनिवार सुबह शिंदे गुट ने दावा किया कि उसके पास 38 विधायकों का समर्थन है, जिसकी वजह से दलबदल कानून उन पर लागू नहीं होगा। शिंदे ने 38 विधायकों की सूची भी जारी की। शिंदे गुट ने कहा कि उन्होंने अभी पार्टी नहीं छोड़ी है। उनकी ओर से कहा गया- हमारे पास दो तिहाई बहुमत है और जिनके पास बहुमत होता है, उसके पास ही नेता चुनने का अधिकार होता है। हम विधानसभा उपाध्यक्ष के फैसले को अदालत में चुनौती देंगे। गौरतलब है कि विधानसभा उपाध्यक्ष नरहरि जिरवाल ने शिव सेना के अनुरोध पर 16 बागी विधायकों को अयोग्यता संबंधी नोटिस भेजा है और सोमवार शाम तक जवाब मांगा है।

गुवाहाटी के पांच सितारा होटल में रूके बागी विधायकों की ओर से प्रेस कांफ्रेंस करके दीपक केसरकर ने कहा- यहां का खर्च शिंदे उठा रहे हैं। कुछ लोग जान-बूझकर हमें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। महाराष्ट्र के अलग अलग हिस्सों में बागी विधायकों के कार्यालयों पर हो रहे हमले को लेकर एकनाथ शिंदे ने कहा है कि विधायकों की सुरक्षा हटा ली गई है, अगर उनके परिवार को कुछ हुआ, तो उसके लिए उद्धव और आदित्य जिम्मेदार होंगे।

दीपक केसरकर ने प्रेस कांफ्रेंस में यह भी बताया कि बागी विधायकों ने शिव सेना बाला साहेब ठाकरे नाम से नया गुट बनाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा- हम लोग अभी गुवाहाटी में ही रहेंगे। अगर महाराष्ट्र गए, तो वहां दंगा हो सकता है। इस बीच पुणे में हिंसा को देखते हुए मुंबई में धारा 144 लागू कर दी गई है। मुंबई पुलिस ने हाई अलर्ट जारी किया है और सभी पुलिस थानों से शहर के सभी राजनीतिक कार्यालयों में सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

six − 4 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
मनीष सिसोदिया की मुसीबत बढ़ेगी
मनीष सिसोदिया की मुसीबत बढ़ेगी