nayaindia Shinde wins trust vote शिंदे ने जीता विश्वास मत
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| Shinde wins trust vote शिंदे ने जीता विश्वास मत

शिंदे ने जीता विश्वास मत

eknath Shindes claim

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया है। विधानसभा के विशेष सत्र में सोमवार को हुए विश्वास मत प्रस्ताव पर वोटिंग हुई, जिसमें सरकार के पक्ष में 164 और विपक्ष में 99 वोट पड़े। 21 विधायकों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। सरकार का विश्वास मत जीतना पहले से तय था क्योंकि एक दिन पहले ही स्पीकर के चुनाव में सत्तापक्ष को बड़ी जीत मिली थी और भाजपा के राहुल नार्वेकर 164 वोट के साथ चुनाव जीते थे।

बहुमत परीक्षण में भी सत्तापक्ष को 164 वोट मिले लेकिन चिंता की बाद विपक्ष के लिए है क्योंकि एक दिन में उसके आठ वोट घट गए। स्पीकर के चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार राजन साल्वी को 107 वोट मिले थे लेकिन विश्वास मत पर वोटिंग के दौरान सरकार के खिलाफ सिर्फ 99 वोट पड़े। बताया जा रहा है कि शिव सेना में बगावत के बाद उद्धव ठाकरे के समर्थन में आंसू बहाने वाले विधायक ने भी सरकार के पक्ष में वोट किया। शिव सेना के कुल 40 विधायकों ने एकनाथ शिंदे के समर्थन में मतदान किया।

बहरहाल, सोमवार को विश्वास मत पर हुए मतदान दौरान सदन में 266 विधायक मौजूद थे। इनमें से तीन विधायकों ने वोट नहीं डाला, जबकि 21 विधायक सदन से गैरहाजिर रहे। विश्वास मत जीतने के बाद सदन में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने ऐलान किया कि उनकी सरकार बाला साहेब ठाकरे के बताए हिंदुत्व के रास्ते पर चलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक में पेट्रोल और डीजल पर वैट घटाने का फैसला किया जाएगा ताकि इन दोनों ईंधनों की कीमत कम हो सके।

विश्वास मत पर वोटिंग के दौरान विपक्ष की ओर से ईडी, ईडी का लगाया गया, जिसके जवाब में उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने खड़े होकर कहा कि सरकार ईडी यानी एकनाथ और देवेंद्र की है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने विश्वास मत के दौरान अपने भाषण में भावुक होते हुए कहा कि उन्होंने अपनी आंखों के सामने दो बच्चे खो दिए। उन्होंने कहा कि तब आनंद दिघे ने उनका हाथ थामा और हौसला बढ़ाया।

शिंदे ने यह भी बताया कि विधान परिषद चुनाव के दिन उनके साथ बदसलूकी हुई थी। शिंदे ने विधानसभा में कहा- आज बाला साहेब ठाकरे का सपना पूरा हुआ। हम शिव सैनिक हैं और हम हमेशा बाला साहेब और आनंद दिघे के शिव सैनिक रहेंगे। उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए उद्धव से कहा- मैं आपको याद दिलाना चाहता हूं कि वहां कौन था और किसने बाला साहेब के मतदान करने पर छह साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published.

twenty − five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अपराधी नेताओं को सजा ?
अपराधी नेताओं को सजा ?