nayaindia shiv sena and allies निकाय चुनाव में भाजपा-एनसीपी में बराबरी
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| shiv sena and allies निकाय चुनाव में भाजपा-एनसीपी में बराबरी

निकाय चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी

मुंबई। महाराष्ट्र में स्थानीय निकाय चुनावों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है। दूसरे स्थान पर शरद पवार की एनसीपी रही है। बुधवार को घोषित हुए नतीजों के मुताबिक सीटों की संख्या में दूसरे स्थान पर रहने वाली एनसीपी ज्यादा पंचायत निकायों में अपना प्रमुख बनाएगी। खबर लिखे जाने तक के आंकड़ों के मुताबिक एनसीपी 25 क्षेत्रों में अपना प्रमुख बनाएगी। भाजपा 24, कांग्रेस 18 और शिवसेना 14 जगह अपना प्रमुख बना पाएगी।

एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी का हिस्सा हैं। इस लिहाज से कह सकते हैं कि महा विकास अघाड़ी ने बहुत बड़ी जीत दर्ज की है। इन तीनों पार्टियों को मिली सीटों की संख्या भाजपा की सीटों के मुकाबले दो गुने से ज्यादा हैं। ये तीनों पार्टियां कुछ क्षेत्रों में एक साथ लड़ी थीं और कुछ जगहों पर अलग अलग लड़ी थीं। अगर ये तीनों पार्टियां हर जगह साथ लड़तीं तो ज्यादा बडी जीत हासिल करतीं।

बहरहाल, स्थानीय निकाय की 1,802 सीटों के लिए हुए चुनाव में भाजपा 384 सीटें जीत कर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। एनसीपी को 344 सीटें मिली हैं और वह दूसरे स्थान पर रही। कांग्रेस को 316 और शिव सेना को 284 मिली हैं। कुल 321 सीटें अन्य के खाते में गई हैं। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद स्थानीय निकाय चुनाव ओबीसी के आरक्षण के बगैर हुए थे। अदालत ने 27 फीसदी आरक्षित सीटों को सामान्य सीटों में तब्दील कर चुनाव कराने का निर्देश दिया था।

बहरहाल, नतीजों के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने दावा किया कि पार्टी राज्य की सबसे बड़ी राजनीतिक ताकत है। उन्होंने कहा- लगभग 26 महीनों तक सत्ता से बाहर रहने के बावजूद, भाजपा सफल रही है और इससे पता चलता है कि हम बिना किसी सरकारी समर्थन के अच्छे परिणाम दे सकते हैं। गौरतलब है कि अगले तीन महीने में बृहन्नमुंबई महानगरपालिका, बीएमसी सहित कई शहरी निकायों में चुनाव होने वाले हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

2 × five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भारत में इलाज का इलाज कैसे हो ?
भारत में इलाज का इलाज कैसे हो ?