nayaindia Shivling in Gyanvapi Mosque ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग!
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Shivling in Gyanvapi Mosque ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग!

ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग!

वाराणसी। राम की नगरी अयोध्या का इतिहास शिव की नगरी वाराणसी में दोहराता दिख रहा है। वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने की खबर है। एक स्थानीय अदालत के आदेश पर मस्जिद का सर्वे कर रही टीम को परिसर के अंदर शिवलिंग मिला है। हिंदू पक्ष का कहना है कि यह शिवलिंग पन्ना का बना हुआ है, जबकि मुस्लिम पक्ष का कहना है कि परिसर के अंदर फव्वारे को शिवलिंग बताया जा रहा है। बहरहाल, शिवलिंग मिलने की खबर के बाद वाराणसी की अदालत ने उस क्षेत्र को सील करने और प्रतिबंधित करने का आदेश दिया है।

शिवलिंग मिलने की खबर आने के बाद वाराणसी की अदालत ने कलेक्टर को आदेश दिया कि जिस जगह शिवलिंग मिला है, उसे तत्काल सील कर दें। वहां पर किसी भी व्यक्ति को जाने की इजाजत नहीं होगी। अदालत ने कलेक्टर, पुलिस कमिश्नर और सीआरपीएफ कमांडेंट को यह आदेश दिया है। अदालत ने इन अधिकारियों को जगहों को संरक्षित और सुरक्षित रखने की व्यक्तिगत तौर पर जिम्मेदारी दी है। गौरतलब है कि अदालत के आदेश के बाद सर्वे कमिश्नर के नेतृत्व में पिछले तीन दिन से एक टीम ज्ञानवापी मस्जिद की वीडियोग्राफी और सर्वे कर रही है। टीम ने सर्वे का काम पूरा कर लिया है और इसे मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

इससे पहले सोमवार को सर्वे के तीसरे दिन हिंदू पक्ष की ओर से दावा किया गया कि टीम को एक शिवलिंग नजर आया है। सर्वे टीम में शामिल हिंदू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन ने इसके तुरंत बाद अदालत में आवेदन दिया और बताया कि वहां पर शिवलिंग मिला है। उन्होंने इसे महत्वपूर्ण सबूत बताते हुए सीआरपीएफ कमांडेंट को उस जगह को सील करने का आदेश देने की मांग की गई। उनके आवेदन पर सीनियर डिवीजन के जज रवि कुमार दिवाकर ने तुरंत कलेक्टर को उस जगह को सील करने का आदेश दिया है।

सोमवार को तीसरे दिन का सर्वे पूरा होने के बाद हिंदू पक्ष के पैरोकार डॉ. सोहनलाल बाहर आए और उन्होंने बड़ा दावा किया। उन्होंने कहा- अंदर बाबा मिल गए… जिन खोजा तिन पाइयां। तो समझिए, जो कुछ खोजा जा रहा था, उससे कहीं अधिक मिला है। उन्होंने कहा- अब पश्चिमी दीवार के पास जो 75 फीट लंबा, 30 फीट चौड़ा और 15 फीट ऊंचा मलबा है, उसके सर्वे की मांग उठाएंगे।

दूसरी ओर सर्वे के बाद बाहर आए मुस्लिम पक्ष के वकील ने हिंदू पक्ष के दावों का खारिज किया। उन्होंने कहा- ऐसा कुछ नहीं मिला। हम सर्वे से संतुष्ट हैं। कल, यानी 17 मई को अदालत में रिपोर्ट सौंपी जाएगी। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के वकील रईस अहमद अंसारी ने शिवलिंग मिलने के सवाल पर कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाना में एक फव्वारा लगा हुआ है, जिसे शिवलिंग बताया जा रहा है। उस जगह को सील करने के फैसले पर उन्होंने कहा- अदालत ने जल्दबाजी में आदेश दे दिया है। हम अदालत के इस आदेश से संतुष्ट नहीं हैं और हाईकोर्ट में उसे चुनौती देंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.

9 − eight =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
हत्यारों का आतंकी कनेक्शन नहीं
हत्यारों का आतंकी कनेक्शन नहीं