Shivsena MP Sanjay Raut ने कहा, निर्वाचन आयोग ने Mamata Banerjee को प्रचार से रोकने का निर्णय भाजपा के कहने पर लिया

Must Read

मुंबई। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं। शिवसेना (Shivsena) इस चुनाव में नहीं लड़ रही है, लेकिन उसने ममता बनर्जी को अपना समर्थन दिया है। शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने आज आरोप लगाया कि भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) को 24 घंटे तक प्रचार मुहिम से रोकने का निर्णय भाजपा (BJP) के कहने पर लिया है।

संजय राउत (Sanjay Raut) ने ट्वीट किया कि यह देश की स्वतंत्र संस्थाओं की सम्प्रभुता और ‘‘लोकतंत्र पर सीधा हमला’’ है। शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के साथ एकजुटता जताते हुए उन्हें ‘बंगाल की शेरनी’ करार दिया। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) चल रहे हैं। शिवसेना इस चुनाव (Election) में नहीं लड़ रही है, लेकिन उसने बनर्जी को अपना समर्थन दिया है।

इसे भी पढ़ें – यहां कोरोना से हाल बेहाल, अस्पताल में बेड्स की कमी, बाहर एम्बुलेंस में इलाज करवा रहे कोरोना पाॅजिटिव

निर्वाचन आयोग ने ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के केंद्रीय बलों के खिलाफ बयानों और कथित धार्मिक प्रवृत्ति वाले एक बयान के कारण उनके 24 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है।

संजय राउत (Sanjay Raut) ने ट्वीट किया, ECI (भारत निर्वाचन आयोग) ने ममता दीदी पर 24 घंटे के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। यह स्पष्ट रूप से भारत में सत्तारूढ़ पार्टी के कहने पर किया गया। उन्होंने ट्वीट किया, यह भारत (India) में स्वतंत्र संस्थानों की सम्प्रभुता और लोकतंत्र पर सीधा हमला है। मैं बंगाल की शेरनी के प्रति एकजुटता व्यक्त करता हूं।

इसे भी पढ़ें – सोनिया गांधी की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग: Corona की दवाओं को GST से रखा जाए बाहर

चुनाव प्रचार पर 24 घंटे के लिए पाबंदी लगाए जाने के निर्वाचन आयोग (Election Commission) के फैसले की आलोचना करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि वह आयोग के असंवैधानिक फैसले के खिलाफ आज कोलकाता में धरना देंगी।

इसे भी पढ़ें – Corona: इंदौर में मरीज को बिस्तर नहीं मिलने पर परिजनों ने किया हंगामा, अस्पताल में की तोड़-फोड़

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

‘चित्त’ से हैं 33 करोड़ देवी-देवता!

हमें कलियुगी हिंदू मनोविज्ञान की चीर-फाड़, ऑटोप्सी से समझना होगा कि हमने इतने देवी-देवता क्यों तो बनाए हुए हैं...

More Articles Like This