nayaindia एल्गार परिषद मामले पुलिस कार्रवाई की एसआईटी जांच हो : पवार - Naya India
ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

एल्गार परिषद मामले पुलिस कार्रवाई की एसआईटी जांच हो : पवार

पुणे। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को एल्गार परिषद मामले में कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की कड़ी आलोचना की और इस मामले की विशेष जांच दल (एसआईटी) से जांच कराने की मांग की।

पवार ने संवाददाताओं से कहा कि आरोपियों से जब्त किए गए साहित्य से कोई अनुमान नहीं लगाया जाना चाहिए, उन्होंने कहा कि एक स्वतंत्र जांच की आवश्यकता थी। उन्होंने कहा कि इस मामले में जिसने भी राजनीतिक शक्ति का दुरुपयोग किया है उसे दंडित किया जाना चाहिए।पवार ने कहा कि एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश या वर्तमान न्यायाधीश के नेतृत्व में एसआईटी से जांच होनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें :- दिशा कांड : आराेपियों के शवों के दोबारा पोस्टमॉर्टम के आदेश

बुधवार को पुलिस ने पुणे में विशेष गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत 19 आरोपियों के खिलाफ एक आरोप पत्र प्रस्तुत किया। एल्गार परिषद मामले में उन्होंने कहा कि पुणे जिले के कोरेगाँव-भीमा में हिंसा भड़क गई थी, जहां समर्थक भीमा कोरेगांव की लड़ाई की 200 वीं वर्षगांठ मनाने के लिए एकत्र हुए थे। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गयी और कई लोग घायल हो गए थे, यह दुर्भाग्यपूर्ण था।
पुणे पुलिस ने 31 दिसंबर 2017 को एल्गार परिषद की बैठक में अपने भाषण के माध्यम से भीमा कोरेगांव की हिंसा के लिए उकसाने के आरोप में सुधा भारद्वाज, अरुण फरेरा, और वर्नोन गोंजाल्विस, सुरेन्द्र गडलिंग, सुधीर धवले और पी वरवारा राव जैसे कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया।

Leave a comment

Your email address will not be published.

four × 4 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
वंशवाद को लेकर विपक्ष पर मोदी का हमला
वंशवाद को लेकर विपक्ष पर मोदी का हमला