mahant narendra giri death नरेंद्र गिरि की मौत, एसआईटी करेगी जांच
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| mahant narendra giri death नरेंद्र गिरि की मौत, एसआईटी करेगी जांच

नरेंद्र गिरि की मौत, एसआईटी करेगी जांच

mahant narendra giri death

लखनऊ। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के प्रमुख और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच के लिए विशेष जांच टीम, एसआईटी बनाई गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस मामले में सख्त रुख दिखाने के बाद प्रयागराज के डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने एसआईटी बनाने का ऐलान किया है, जिसकी कमान डीएसपी अजीत सिंह चौहान को दी गई है। गौरतलब है कि महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध स्थितियों में मौत हो गई थी। बंद कमरे में एक रस्सी से लटका उनका शव मिला था और उनके शव के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है। Mahant narendra giri death

महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में अपने शिष्य आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी का कई बार जिक्र किया है और पूरे होश में उन्हें अपनी आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने यह भी लिखा है कि एक महिला से जोड़ कर उनका वीडियो वायरल किए जाने का धमकी दी जा रही थी। इसके चलते उन्हें यह कदम उठाना पड़ रहा है। नरेंद्र गिरि ने बाघंबरी गद्दी मठ का उत्तराधिकारी अपने शिष्य बलबीर को घोषित किया है। साथ ही अपने प्रिय शिष्यों के नाम वसीयत भी की है।

इस मामले में उनके शिष्य आनंद गिरि सहित आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया गया है और पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। बहरहाल, नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में लिखा है- मेरा समाधि गद्दी में गुरुजी के बगल में किंतु पेड़ के पास दिया जाए। दूसरा मैं दुखी होकर आत्महत्या करने का निर्णय लेकर आत्महत्या करने जा रहा हूं। मेरी मौत की जिम्मेदार आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी संदीप तिवारी पुत्र आद्या प्रसाद तिवारी की होगी। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से अनुरोध किया है कि उनकी आत्महत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा दिलाई जाए।

Read also कन्हैया और मेवानी कांग्रेस में शामिल होंगे

mahant narendra giri death

उन्होंने अपने शिष्य बलबीर गिरि को महंत मनोनीत करते हुए लिखा है- बलवीर गिरि मठ मंदिर का व्यवस्था प्रयास करना, जिस तरह से मैंने किया। इसी तरह से करना। आशुतोष गिरि, नीतीश गिरि एवं गद्दी की सभी महात्मा बलवीर का सहयोग करना। परम पूज्य महंत हरगोविंद पुरी से निवेदन है कि गद्दी का महंत बलवीर गिरोह को बनाना। महंत रवींद्र पूरी जी सजावट आपने हमेशा साथ दिया। मेरे मरने के बाद बलवीर गिरि का ध्यान दीजिएगा। सभी को मेरा- ओम नमो नारायण।

उन्होंने सुसाइड नोट में लिखा है- मैं महंत नरेंद्र गिरि वैसे तो यह 13 सितंबर 2021 को आत्महत्या करने जा रहा था, लेकिन हिम्मत नहीं कर पाया। आज जब हरिद्वार से सूचना मिली कि एक-दो दिन में आनंद गिरि कंप्यूटर के माध्यम से मोबाइल से किसी लड़की या महिला की मेरी फोटो लगाकर गलत काम करते हुए फोटो वायरल कर देगा। मैंने सोचा कहां तक सफाई दूंगा एक बार तो बदनाम हो जाऊंगा। मैं जिस पद पर हूं वह गरिमामयी पद है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
कोरोना को लेकर वीके पॉल ने दी चेतावनी
कोरोना को लेकर वीके पॉल ने दी चेतावनी