nayaindia राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए 21 को धरना - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए 21 को धरना

बीकानेर। राजस्थानी भाषा की मान्यता को लेकर काम कर रही संस्था राजस्थानी मोटियार परिषद द्वारा आगामी 21 फरवरी को विश्व मातृभाषा दिवस पर प्रदेश के साथ बीकानेर में भी एक दिवसीय धरना दिया जाएगा।

परिषद के प्रदेशाध्यक्ष गौरी शंकर प्रजापत ने आज यहां मीडियाकर्मियों से बातचीत में कहा कि लंबे समय से भाषा की मान्यता को लेकर परिषद आंदोलन कर रही है, लेकिन छह करोड़ से ज्यादा लोगों की मातृभाषा राजस्थानी को मान्यता नहीं दी जा रही है।

इस भाषा को मान्यता देने को लेकर सरकारें गम्भीर नहीं है। ऐसे में 21 फरवरी को राज्य के सभी संभाग मुख्यालय पर धरना दिया जाएगा। जिसमें राजस्थानी भाषा के प्रेमी, विद्यार्थी और साहित्यकार शामिल होंगे। वहीं लोगों को जागरूक करने के लिए परिषद की ओर से 20 फरवरी को वाहन रैली का भी आयोजन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि परिषद की मांग है कि बच्चों को प्राथमिक शिक्षा राजस्थानी भाषा में मिले, राजस्थानी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल किया जाए ताकि बड़ी संख्या में बेरोजगार लोगों को राजस्थानी भाषा से रोजगार मिल सके।

Leave a comment

Your email address will not be published.

18 + seven =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
खतरे के बाद बढ़ाई गई शिंदे की सुरक्षा
खतरे के बाद बढ़ाई गई शिंदे की सुरक्षा