ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान

महाराष्ट्र में 10वीं-12वीं की परीक्षाएं स्थगित होने के बाद राजस्थान सरकार का भी बड़ा फैसला, इन कक्षाओं के विद्यार्थी होंगे प्रमोट

जयपुर। देश में बेकाबू हुए कोरोरा संक्रमण (Covid 19) के चलते महाराष्ट्र में 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने के बाद राजस्थान में भी शिक्षा विभाग ने बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश में लगातार बढ़ते कोविड के प्रकोप के बीच शिक्षा विभाग ने 6वीं और 7वीं कक्षा में अध्ययनरत विद्यार्थियों को प्रमोट (Promotion without exam) करने का निर्णय लिया है। अब इन दोनों ही कक्षाओं के विद्यार्थियों की परीक्षाएं नहीं ली जाएंगी। शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। जिसके अनुसार, स्माइल कार्यक्रम के आकलन के आधार पर विद्यार्थियों को प्रमोट किया जाएगा।

आपको बता दें कि कोविड.19 के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने इस महीने राज्य बोर्ड द्वारा आयोजित होने वाली 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाएं टालने का सोमवार को फैसला किया। राज्य में 12 वीं बोर्ड की परीक्षा 23 अप्रेल से और 10 वीं कक्षा की परीक्षा 30 अप्रेल से शुरू होने वाली थी।

ये भी पढ़ें :-Bihar CM Nitish Kumar ने दिए निर्देश, सभी विभाग निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए मिशन मोड में करें काम

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के कारण राजस्थान के कई शहरों में स्थिति काफी नाजुक बनी हुई है। कई शहरों में रात्रिकालिन कर्फ्यू भी लगा हुआ है। ऐसे में सरकार पहले ही नवीं कक्षा तक के सरकारी और निजी स्कूल 19 अप्रेल तक बंद रखने के आदेश दे चुकी है। इन स्कूलों में 15 अप्रेल से छठीं और सांतवीं कक्षा की परीक्षाएं शुरू होनी थी। शिक्षा विभाग की ओर से लिए गए निर्णय के बाद पहली से सातवीं कक्षा तक के विद्यार्थी बिना परीक्षा दिए अगली कक्षा में प्रमोट कर दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें :- Amarnath Yatra 2021: श्रद्धालुओं के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा 15 अप्रैल से होगी शुरू

अब इन परीक्षाओं पर भी संशय के बादल
आपको बता दें कि प्रदेश में कक्षा 9वीं व 11वीं की परीक्षाएं 22 अप्रेल से 3 मई के बीच होनी हैं। सरकार ने 19 अप्रेल तक नवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के स्कूल आने पर रोक लगा दी है। स्कूल में अभी 10वीं से 12वीं तक के विद्यार्थी ही आ रहे हैं। यदि कोरोना पर नियंत्रण नहीं होता है तो इन परीक्षाओं के आयोजन में भी काफी मुश्किल आ सकती है। ऐसे में इन दोनों कक्षाओं की परीक्षाओं पर भी संशय के बादल मंडरा रहे हैं।

ये भी पढ़ें :- Corona के कारण दो घंटे से कम की उड़ानों में खान-पान सेवा पर सरकार ने लगाई रोक

इन्हें भी बिना परीक्षा प्रमोट करने की मांग
कोरोना संक्रमण को देखते हुए शिक्षक संगठनों की ओर से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को भी प्रमोट किए जाने की लगातार मांग हो रही है। शिक्षक संगठनों का कहना है कि आठवीं कक्षा में विद्यार्थियों को वैसे भी फेल नहीं किया जा सकता। इसलिए सरकार 8वीं बोर्ड परीक्षा लेने के स्थान पर विद्यार्थियों को भी प्रमोट ही कर देना चाहिए। कोरोना के भय के चलते कई विद्यार्थियों के पेरेंट्स भी बच्चों की परीक्षा लेने के पक्ष में नहीं है।

ये भी पढ़ें :- खुशखबरी : भारत में नहीं होगी कोरोना वैक्सीन की कमी, जल्द शुरू होगा इस वैक्सीन का प्रयोग

छह मई से होगी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा
वहीं राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 6 मई से शुरू होंगी। 12वीं की परीक्षाएं 29 मई और 10वीं की 25 मई तक चलेंगी। 10वीं व्यावसायिक और प्रवेशिका परीक्षाएं भी 6 मई से 27 मई तक होंगी। सभी परीक्षाएं सुबह 8.30 से 11.45 बजे के बीच होंगी।

Latest News

Jammu Kashmir : आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड, 6 गिरफ्तार, भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद
श्रीनगर | Terror Module Busted in Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के बारामूला में सुरक्षाबलों ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए आतंकियों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लाइफ स्टाइल

देश के सबसे बड़े बैंक में अब ATM से पैसे निकालना हुआ महंगा, अगर आपका खाता है तो जरूर पढ़ें यह नियम

नई दिल्ली |  यदि आप भी देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर हैं तो आपके लिए ये अत्यंत महत्वपूर्ण खबर है। बैंक ने अपने कई जरूरी नियमों में बदलाव किए हैं। स्टेट बैंक की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, नए नियम लागू होने के बाद ATM से Cash Withdrawal और चेकबुक का इस्तेमाल करना महंगा साबित हो सकता है।

सर्विस चार्ज में हुआ बदलाव

1 जुलाई से देश के इस सबसे बड़े बैंक के कई नियमों में बदलाव होने वाला है। दरअसल, बैंक इंडिया ने अपने ATM और बैंक ब्रांच से पैसे निकालने के सर्विस चार्ज में फेरबदल कर दिया है। SBI की आधिकारिक वेबसाइट पर ये जानकारी दी गई। इसके मुताबिक नए चार्ज, ट्रांसफर और अन्य नॉन-फाइनेंशियल लेन-देन पर लागू किए जाएंगे। बैंक के अनुसार नए सर्विस चार्ज 1 जुलाई, 2021 से SBI बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाताधारकों पर लागू होंगे।

एटीएम से कैश निकालना भी हुआ महंगा

SBI के BSBD कस्टमर को चार बार फ्री कैश निकालने की सुविधा रहती है। फ्री लिमिट खत्म होने के बाद बैंक ग्राहकों से चार्ज वसूलता है। लेकिन १ जुलाई के बाद,  ATM से नकद निकासी पर बैंक 15 रुपए के साथ जीएसटी चार्ज भी वसूल किया जाता है। कोरोना संकट के चलते स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने खाताधारकों को राहत देते हुए कैश निकालने की सीमा को बढ़ा दिया है। ग्राहक अपने बचत खाते से दूसरी ब्रांच में जाकर विड्रॉल फॉर्म के जरिए 25,000 रुपए तक निकाल सकेंगे और चेक से दूसरी ब्रांच में जाकर भी 1 लाख रुपए तक निकाले जा सकते है।

स्टेट बैंक के सर्विस चार्ज में ये बदलाव

गौरतलब है कि SBI BSBD खाता होल्डर्स को एक फाइनेंशियल ईयर में 10 चेक की कॉपी दी जाती है। अब नए नियम के अनुसार, अब 10 चेक वाली चेकबुक पर ग्राहक को शुल्क देना होगा। अब BSBD बैंक खाताधारकों को 10 चेक लीव के लिए 40 रुपए के साथ GST चार्ज देना होगा, वहीं 25 चेक लीव के लिए 75 रुपए और GST चार्ज देना होगा। इमरजेंसी चेकबुक की 10 लीव के लिए 50 रुपए प्लस GST का भुगतान करना होगा। हालांकि बैंक ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए चेकबुक पर नए सर्विस चार्ज से छूट दी है।

Latest News

aaJammu Kashmir : आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड, 6 गिरफ्तार, भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद
श्रीनगर | Terror Module Busted in Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के बारामूला में सुरक्षाबलों ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए आतंकियों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *