nayaindia Summit Central Asian Countries मध्य एशियाई देशों के साथ शिखर सम्मेलन
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Summit Central Asian Countries मध्य एशियाई देशों के साथ शिखर सम्मेलन

मध्य एशियाई देशों के साथ शिखर सम्मेलन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को पहले मध्य एशियाई देशों के शिखर सम्मेलन की मेजबानी की। भारत और मध्य एशिया के देशों के शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- भारत और मध्य एशियाई देशों के राजनयिक संबंधों ने 30 सार्थक वर्ष पूरे कर लिए हैं। पिछले तीन दशकों में हमारे सहयोग ने कई सफलताएं हासिल की हैं। गौरतलब है कि सोवियत संघ के विखंडन के बाद इस क्षेत्र के देशों के साथ भारत के नए राजनयिक दौर की शुरुआत हुई थी।

बहरहाल, प्रधानमंत्री ने कहा- अब इस महत्वपूर्ण पड़ाव पर, हमें आने वाले सालों के लिए भी एक महत्वकांक्षी विजन परिभाषित करना चाहिए। क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए हम सभी की चिंताएं और उद्देश्य एक समान हैं। उन्होंने कहा- अफगानिस्तान के घटनाक्रम से हम सभी चिंतित हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- अफगानिस्तान के संदर्भ में भी हमारा आपसी सहयोग, क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता के लिए और महत्वपूर्ण हो गया है।

Read also ‘महाराजा’ का मालिक अब टाटा समूह

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- भारत की तरफ से मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि मध्य एशिया एक एकीकृत और स्थिर विस्तारित पड़ोस के भारत के दृष्टिकोण का केंद्र है। आज का शिखर सम्मेलन के तीन प्रमुख उद्देश्य हैं। गौरतलब है कि भारत का इरादा मध्य एशिया में चीन की बढ़ती गतिविधियों पर रोक लगाना है। अभी तक, भारत-मध्य एशिया वार्ता में विदेश मंत्रियों के स्तर पर पांच देशों के साथ भारत का बैठक तंत्र चलता रहा है। पिछले महीने, नई दिल्ली ने इस प्रारूप के तहत तीसरी बैठक की मेजबानी भी की थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.

2 + twenty =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
MI के हाल पर निराश कोच जयवर्धने बोले- हमसे गलतियां हुईं…
MI के हाल पर निराश कोच जयवर्धने बोले- हमसे गलतियां हुईं…