Supreme Court ने वेदांता संयंत्र से ऑक्सीजन उत्पादन शुरू करने की अनुमति दी, चार महीने के लिए खोलने का फैसला

Must Read

नई दिल्ली | कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने तमिलनाडु के वेदांता ताम्र संयंत्र (Vedanta copper plant) को ऑक्सीजन उत्पादन (Oxygen production) के लिए खोले जाने की आज अनुमति दे दी।

न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud) की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने यह आदेश उस वक्त दिया जब उसे अवगत कराया गया कि तमिलनाडु सरकार (Government of Tamil Nadu) ने सर्वदलीय बैठक में संयंत्र को ऑक्सीजन उत्पादन के लिए चार महीने खोलने का निर्णय लिया है। न्यायालय का यह आदेश कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona virus infection) की दूसरी लहर के कारण पूरे देश में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी को देखते हुए आया है।

इसे भी पढ़ें – IPL 2021 : कोरोना काल में भी IPL कराने पर अड़े, BCCI ने खिलाड़ियों के प्रति चिंता जता कर कहा कि IPL खत्म होने के बाद खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को सुरक्षित घर वापसी कराएगा

न्यायालय ने कहा, वेदांता केवल मेडिकल श्रेणी के ऑक्सीजन उत्पादन (Oxygen production) के लिए अपना संयंत्र खोल सकता है, लेकिन इस आदेश का असर वेदांता के मूल मुकदमे पर नहीं पड़ेगा। खंडपीठ ने वेदांता (Vedanta) में उत्पादन संबंधी गतिविधियों की निगरानी को लेकर एक समिति भी गठित की है, जिसमें तूतीकोरिन के जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, जिला पर्यावरण अभियंता, सब-कलेक्टर तथा संबंधित मामलों की जानकारी रखने वाले दो सरकारी अधिकारी शामिल होंगे। समिति यह निर्णय करेगी कि संयंत्र में कितने आदमी प्रवेश करेंगे।

इसे भी पढ़ें – Bihar: चिराग पासवान ने PM मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखा पत्र, कोरोना मरीजों के लिए रखी ये मांग

पिछली सुनवाई को न्यायालय ने कहा था कि जब ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी की वजह से लोग मर रहे हैं, तो तमिलनाडु सरकार बंद पड़ी वेदांता के स्टरलाइट तांबा संयंत्र इकाई से ऑक्सीजन का उत्पादन क्यों नहीं करती। न्यायालय ने कहा था कि उसकी दिलचस्पी वेदांता या किसी कंपनी के चलाने में नहीं है, बल्कि संकट के समय में ऑक्सीजन उत्पादन से है।

तमिलनाडु सरकार (Government of Tamil Nadu) की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता सीएस वैद्यनाथन ने राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति का हवाला देते हुए कहा था कि जिला कलेक्टर ने स्थानीय लोगों से इस मसले पर बात की है। इस प्लांट को लेकर लोगों में अविश्वास का माहौल है।

वैद्यनाथन ने कहा था कि वह ऑक्सीजन उत्पादन (Oxygen production) के लिए संयंत्र को खोलने या न खोलने के बारे में राज्य सरकार से मशविरा करके सोमवार तक अदालत को अवगत करायेंगे। तूतीकोरिन के प्रभावित परिवारों के संगठन की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कोलिन गोन्साल्विज ने कहा था कि यदि तमिलनाडु सरकार इस संयंत्र को अपने हाथ में लेकर ऑक्सीजन का उत्पादन करती है तो लोगों कोई दिक्कत नहीं है।

इसे भी पढ़ें – Uttar Pradesh : Corona situation को प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र, साझा किए 10 सुझाव

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

Corona Update: संक्रमण की दर पांच फीसदी से नीचे, रिकवरी रेट में लगातार सुधार

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की दर शनिवार को लगातार छठे दिन पांच फीसदी से नीचे...

More Articles Like This