पाक-अफगान रिश्ते सुधारने को काबुल में हुई वार्ता

इस्लामाबाद/काबुल। पाकिस्तान के दो शीर्ष अधिकारियों ने अफगान अधिकारियों से

दोनों पड़ोसी देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों में तनाव पैदा करने वाली हाल की घटनाओं

पर वार्ता करने के लिए काबुल का दौरा किया। आज  यह जानकारी दी गई।

पाकिस्तान के विदेश सचिव सोहैल महमूद और इंटर-

सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद ने सोमवार को

काबुल में अफगानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हमदुल्ला मोहिब से मुलाकात की।

अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता कबीर हकमल ने काबुल में संवाददाताओं से इस बैठक की पुष्टि करते हुए कहा कि दोनों पक्षों ने

रिश्तों को सामान्य करने के तरीकों पर बात की।

सूत्रों के अनुसार, वार्ता के एजेंडे में पेशावर में एक अफगान बाजार पर विवाद,

सीमा पर गोलीबारी की घटनाओं और एक-दूसरे के राजनयिकों

का उत्पीड़न जैसे मुद्दे रहे।

अफगान सरकार ने पिछले महीने एक संपत्ति के मालिकाना हक को लेकर पेशावर में अफगान बाजार में पुलिस की छापेमारी का विरोध जताया था।

काबुल ने इसके बाद पेशावर स्थित अपना वाणिज्य दूतावास बंद कर दिया था।

यह खबर भी पढ़े:- पाकिस्तान को रास नहीं आया अयोध्या विवाद पर फैसला

पाकिस्तान सरकार ने कहा था कि मार्केट पर विवाद एक नागरिक तथा एक अफगान बैंक के बीच हुआ था

और एक कोर्ट ने 1998 में इस

संबंध में नागरिक के पक्ष में फैसला सुनाया था।

लगभग एक पखवाड़ा पहले सीमा पर पाकिस्तानी सेना द्वारा चौकी बनाए जाने के विरोध में अफगान सेना ने बल प्रयोग किया था, जिसके

बाद दोनों देशों की सेनाओं में लड़ाई हुई थी।

कुछ दिनों तक चली लड़ाई में अफगानी सैनिकों ने चित्राल में पाकिस्तान के आम नागरिकों को निशाना बनाया था, जिसमें सैनिकों समेत कई

लोग घायल हो गए थे।

सबसे बाद में दोनों देशों ने एक-दूसरे पर अपने राजनयिकों का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया।

अफगान विदेश मंत्रालय ने पहले आरोप लगाया कि इस्लामाबाद में उसके राजदूत आतिफ मशाल को आईएसआई ने समन भेजा और संस्था

के कर्मियों का व्यवहार कूटनीतिक नियमों और सिद्धांतों के खिलाफ था।

पाकिस्तानी सरकार ने बाद में दावा किया कि काबुल स्थित पाकिस्तानी दूतावास के अधिकारियों को सड़क पर रोका गया और दूतावास जा

रहे दूतावास के वाहनों को मोटरसाइकिलों से टक्कर मारी गई।

Amazon Prime Day Sale 6th - 7th Aug

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares