थरूर ने सबरीमला मुद्दे को संविधान पीठ को भेजे जाने का स्वागत किया

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने सबरीमला मंदिर तथा कुछ अन्य मुद्दों पर नए सिरे से विचार के लिए संविधान पीठ के पास भेजे जाने के उच्चतम न्यायालय

के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि ये मुद्दे सभी धर्मों की अनुपालना पर असर

डालने वाले हैं।

तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने ट्वीट कर कहा, मैं सबरीमला मंदिर के मुद्दे को बड़ी

पीठ के पास भेजे जाने के उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करता हूं।

ये मुद्दे सभी धर्मों की अनुपालना पर असर डालने वाले हैं।

दरअसल, उच्चतम न्यायालय ने सबरीमला मंदिर, मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश तथा दाऊदी बोहरा समाज में स्त्रियों के खतना सहित

विभिन्न धार्मिक मुद्दे बृहस्पतिवार को नये सिरे से विचार के लिये सात सदस्यीय संविधान पीठ को सौंप दिये।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ इन धार्मिक मुद्दों को नये सिरे से विचार के लिये सात

सदस्यीय पीठ को सौंपे जाने पर एकमत थी।

हालाकि, प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति इन्दु मल्होत्रा ने बहुमत के फैसले में सबरीमला

मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देने संबंधी अपने निर्णय पर पुनर्विचार की याचिकाओं को लंबित रखने का निश्चय किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares