छत्तीसगढ़ में क्वारंटीन सेन्टरों की हालत बहुत बदतर: रमन सिंह

रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने राज्य में प्रवासी मजदूरों के लिए बनाये गये क्वारंटीन सेंन्टरों की हालत बहुत बदतर होने का आरोप लगाते हुए कहा कि इन्हे सरपंचों के भरोसे छोड़ दिया गया है।अव्यवस्था के चलते यहां पर लोगो की मौते हो रही है।

मोदी सरकार के एक साल पूरा होने के अवसर पर चलाये जाने वाले जनसम्पर्क अभियान की जानकारी देने पहुंचे डॉ.सिंह ने कल बिलासपुर भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से कहा कि केन्द्र द्वारा राशि उपलब्ध कराये जाने के बाद भी क्वारंटीन सेंटरों में दुर्दशा है।

छत्तीसगढ़ इकलौता राज्य है जहां इन सेन्टरों में रुके लोगों की मौत हो रही है।भूपेश सरकार के फैसले लेने में देरी करने के चलते कोरोना के मामले हर रोज बढ़ रहे हैं। उऩ्होने बताया कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने देशभर में महासम्पर्क अभियान शुरू किया गया है।इसके तहत छत्तीसगढ़ के प्रत्येक कार्यकर्ता 25 घरों में पहुंचेंगे और उन्हें प्रधानमंत्री का पत्र तथा केन्द्र सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी का पर्चा सौंपेंगे।जल्द ही प्रदेश में एक वर्चुअल रैली आयोजित की जायेगी जिसे केन्द्रीय नेता संबोधित करेंगे।

डा.सिंह ने कहा कि बीते 70 सालों में जो नहीं हुआ वह एक साल में मोदी सरकार ने कर दिखाया है, चाहे वह आर्टिकल 370 और 35 ए का मामला हो, राम मंदिर निर्माण, तीन तलाक, नागरिकता संशोधन कानून जैसे फैसले मोदी सरकार ही ले सकती है। उन्होने कहा कि कि प्रधानमंत्री सम्मान निधि के माध्यम से नौ करोड़ किसानों के खातों में 72 हजार करोड रुपए जमा किए गए हैं और यह रकम हर साल जमा होगी।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत एक लाख 70 हजार करोड़ राहत पैकेज की घोषणा केन्द्र सरकार द्वारा किया गया इसके साथ ही देश की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ एवं किसान और मजदूर भाईयों के लिए प्रधानमंत्री जी द्वारा 20 लाख करोड़ का पैकेज दिया गया जो किसी भी देश द्वारा राहत पैकेज के रूप बड़ी राशि है।इसके साथ ही डा.सिंह ने बस स्टैण्ड तिफरा पहुंचकर लोगों को राहत सामग्री का वितरण कर सभी से लाकडाउन का नियमों का पालन करने का आग्रह किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares