nayaindia The death of contractor मंत्री पर आरोप लगाने वाले ठेकेदार की मौत
बूढ़ा पहाड़
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| The death of contractor मंत्री पर आरोप लगाने वाले ठेकेदार की मौत

मंत्री पर आरोप लगाने वाले ठेकेदार की मौत

Karnatak Politics Eshwarappa resignation

बेंगलुरू। कर्नाटक के ग्रामीण विकास व पंचायत राज मंत्री केएस ईश्वरप्पा पर एक भुगतान लिए 40 फीसदी कमीशन मांगने का आरोप लगाने वाला ठेकेदार की संदिग्ध स्थितियों में मौत हो गई है। आरोप लगामे वाला ठेकेदार मंगलवार की सुबह उडुपी के एक लॉज में मृत मिला। पुलिस इसे खुदकुशी का मामला मान कर इसकी जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि मरने से पहले उस ठेकेदार ने कुछ मीडिया समूहों को संदेश भेजा था, जिसमें ईश्वरप्पा को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया था। The death of contractor

बहरहाल, पुलिस ने बताया है कि बेलगावी जिले के संतोष पाटिल का शव निजी लॉज के एक कमरे में मिला था। बताया जा रहा है कि पाटिल ने कुछ मीडिया संस्थानों को कुछ संदेश भेजे हैं, जिसमें कहा गया है कि वह आत्महत्या कर रहा है और आरोप लगाया कि उसकी मृत्यु के लिए ईश्वरप्पा जिम्मेदार हैं।

Read also शरीफ से उम्मीद पालना जल्दबाजी होगी

खुद को भाजपा कार्यकर्ता बताने वाले पाटिल ने 30 मार्च को आरोप लगाया था कि उसने ईश्वरप्पा के विभाग में एक काम किया था और भुगतान बकाया था। उन्होंने कहा था कि ईश्वरप्पा ने चार करोड़ रुपए के काम में 40 फीसदी कमीशन की मांग की थी। मंत्री ने आरोप को खारिज किया है और साथ ही पाटिल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी दायर किया।

विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता सिद्धरमैया ने मंत्री की गिरफ्तारी और उनके हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। दूसरी ओर, ईश्वरप्पा ने कहा है- मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। मुझे नहीं पता कि उन्होंने मौत से पहले लिखे नोट में मेरा नाम क्यों लिखा और उन्होंने मुझ पर आरोप क्यों लगाया है। उन्‍होंने कहा- इस्तीफा देने का सवाल ही पैदा नहीं होता। मैंने संतोष पाटिल के खिलाफ जो मामला दायर कराया है, हमें अदालत में उसका फैसला आने का इंतजार करना होगा।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 4 =

बूढ़ा पहाड़
बूढ़ा पहाड़
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
श्रद्धा हत्याकांड आरोपपत्र पर 21 फरवरी को सुनवाई
श्रद्धा हत्याकांड आरोपपत्र पर 21 फरवरी को सुनवाई