सैन्य संबंधों को मजबूत करना ही शक्ति-2019 का उद्देश्य - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

सैन्य संबंधों को मजबूत करना ही शक्ति-2019 का उद्देश्य

बीकानेर। राजस्थान में बीकानेर जिले के महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में सदन शक्ति कमान के सिख रेजिमेंट के सैनिकों और फ्रांसीसी सेना के बख्तरबंद ब्रिगेड के समुंद्री इन्फैन्ट्री रेजिमेंट के सैनिकों का युद्धाभ्यास ‘शक्ति-2019’ शुरू हो गया। रक्षा प्रवक्ता कर्नल सोम्बित घोष ने आज बताया कि इस संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास का उद्देश्य दोनों सेनाओं के बीच आपसी तालमेल और सैन्य संबंधों को मजबूत करना हैं। समारोह में दोनों देशों के राष्ट्रीय झंडों को फहराने के साथ ही राष्ट्रगान की धुन बजाई गई।

इसे भी पढ़ें :- भाजपा केंद्र ने राहत राशि दिलवाने में करें मदद : शर्मा

सैन्य टुकड़ी के कमांडरो के आदेश पर मार्शल की धुनों पर सैनिकों की मार्चिंग भी देखी गई। तत्पश्चात् दोनों देशों के समीक्षा अधिकारियों द्वारा भाषण दिया गया। इस अवसर पर ब्रिगेडियर पी एस चीमा ने कहा ‘लोकतंत्र, बहुलवाद और बहुपक्षवाद के लिए साझा प्रतिबद्धता भारत और द्विपक्षीय सम्बन्धों और वैश्विक जिम्मेदारियों का एक महत्वपूर्ण आयाम है। उन्होंने कहा हम दृढ़ विश्वास के साथ आतंकवाद का मुकाबला करने साझा दृष्टिकोण रखते हैं, अतीत में हमारी सेनाओं ने अपने पराक्रम का लोहा मनवाया है, हमारे पास एक दूसरे से सीखने के लिए बहुत कुछ है।

इसे भी पढ़ें :- कश्मीर में उपद्रवियों ने भाजपा नेता के वाहन में लगाई आग

फ्रांसीसी सेना के कमांडर कर्नल लुडविक दुमंत ने कहा हमारी सेनाओं ने वैश्विक आतंकवाद निरोधी वातावरण में किस प्रकार लड़ना हैं, इसका गहराई से ज्ञान प्राप्त किया है और यह स्वर्णिम अवसर हैं जब हम एक दूसरे से बहुत कुछ साँझा कर सकतें है। कर्नल घोष ने बताया कि 14 दिनों के संयुक्त अभ्यास से दोनों सेनाओं को एक दूसरे को बेहतर तरीके से जानने, अपने परिचालन अनुभव साझा करने और सूचना विनिमय के माध्यम से जागरूकता बढ़ाने में मदद मिलेगी, यह हमें संयुक्त राष्ट्र के तहत आतंकवादी खतरे का मुकाबला करने के लिए पल्टन स्तर पर संयुक्त अभियान चलाने में मदद करेगा।

इसे भी पढ़ें :- सरकार ऑड-ईवन संबंधित याचिकाओं पर विचार करे : हाईकोर्ट

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});