Bengal Politics: BJP के 300 कार्यकर्ता TMC में शामिल होने के लिए बैठे थे भूख हड़ताल पर, 'गंगाजल से शुद्धि' के बाद किया शामिल - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | पश्चिम बंगाल | राजनीति| नया इंडिया|

Bengal Politics: BJP के 300 कार्यकर्ता TMC में शामिल होने के लिए बैठे थे भूख हड़ताल पर, ‘गंगाजल से शुद्धि’ के बाद किया शामिल

बीरभूम |  बंगाल में भाजपा की राह आसान होती नहीं दिखाई दे रही है. मुकुल रॉय के भाजपा छोड़ TMC में शामिल होने के बाद से बंगाल की राजनीति एक बार फिर से गरमा गई है. TMC बार-बार दावा कर रही है कि भाजपा के कई नेता पार्टी में शामिल होने के लिए उत्सुक बैठे हैं. TMC ने तो यहां तक बयान दे दिया है कि हारे हुए विधायकों को तो छोड़िए भाजपा से जीत कर आए विधायक भी TMC में शामिल होना चाहते हैं. ताजा मामले में बंगाल के बीरभूम जिले में एक साथ भाजपा के 300 कार्यकर्ता TMC में शामिल हो गए. लगभग पूरे बंगाल में कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है. लेकिन बीरभूम में भाजपा से TMC में शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं पर गंगाजल डालकर उन्हें शुद्ध करने के बाद शामिल किया गया.

चुनाव के पहले BJP में शामिल होने की थी भगदड़

अक्सर देखा जाता है कि राजनीति में कोई किसी का सगा नहीं होता. कुछ ऐसा ही दृश्य बंगाल की राजनीति में भी देखने को मिला है. बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के पहले जैसे भाजपा में शामिल होने के लिए होड़ सी मच गई थी. ऐसा लग रहा था मानो राज्य में भाजपा की सरकार आने वाली है इसलिए TMC, लेफ्ट और कांग्रेस के कार्यकर्ता किसी भी सूरते हाल में भाजपा में शामिल होना चाहते थे. लेकिन अब एक बार फिर से तस्वीरें बदल गई है. जिस भगदड़ और हड़बड़ी में कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हो रहे थे अब उसी तरह वे भाजपा छोड़कर भी जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें –   Rajasthan: दुष्कर्म के बाद लगातार मिल रही धमकियों से परेशान होकर 14 साल की रेप पीड़िता ने की आत्महत्या, समाज में रोष

TMC में शामिल होने के लिए भूख हड़ताल पर बैठे थे कार्यकर्ता

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार बंगाल के बीरभूम में एक अजब गजब नजारा देखने को मिला. जानकारी के अनुसार बीरभूम के TMC कार्यालय के सामने 300 की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर बैठ गए. इन कार्यकर्ताओं की मांग थी कि इन्हें एक बार फिर से TMC में शामिल कर लिया जाए. बताया जा रहा है कि इन कार्यकर्ताओं का जब भूख हड़ताल सुबह 8:00 बजे शुरू हुआ जो कि 11:00 बजे तक चला. इनकी मांगों को देखते हुए TMC में भी शामिल तो कर लिया गया लेकिन पहले उनकी गंगाजल से शुद्धि की गई.

इसे भी पढ़ें- क्या कोरोना की पहली और दूसरी लहर से हम कुछ सीख पाये हैं.. तीसरी लहर भी 6 से 8 हफ्तों में आने की संभावना -डॉ रणदीप गुलेरिया

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *