रांची में पति के अवैध संबंध से परेशान होकर निशानी मिटाने के लिए बेटी को बोरी में बंद कर लगा दी आग - Naya India
आज खास | देश | झारखंड | ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

रांची में पति के अवैध संबंध से परेशान होकर निशानी मिटाने के लिए बेटी को बोरी में बंद कर लगा दी आग

Ranchi: झारखंड की राजधानी (capital of jharkhand)  से एक दिल दहला देने वाली खबर आयी है. यहां एक महिला अपने पति के अवैध संबंध (illegal affair) से इतनी परेशान हो गयी कि उसने अपनी पिता की निशानी मिटाने के लिए अपनी ही दूधमुंही बेटी की हत्या कर दी. जानकारी की अनुसार गांव की रहने वाली सुनीता और उसके पति भुवनेश्वर महतो (Bhuvneshwar mahto) के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा था. सुनीता का आरोप है कि एक युवती के साथ उसके पति का अवैध संबंध है.  इसी कारण उसका पति  ज्यादातर रांची में ही रहता था. आरोपी के विरोध करने पर अक्सर दोनो के बीच झगड़ा-झंझट हुआ करता था.  बुधवार को भी पति के साथ इसी बात को लेकर सुनीता का झगड़ा हुआ था.  जिसके बाद सुनिता ने सोचा कि वो उसकी निशानी को  मिटा देगी.

कैसे की बेटी की हत्या

इसके बाद अगले ही दिन उसने सोई हुई अपनी दूधमुंही बच्ची को बोरे में लपेट लिया और घर से 150 मीटर की दूरी पर ले गयी. जहां एक गड्ढे में रखकर बोरे में आग लगाकर आ गयी. इसके बाद बच्ची के लापता होने की बात कहकर हल्ला करने लगी. ग्रामीणों व परिजनो को भी इसकी जानकारी दी. रांची में पति को भी बच्ची के लापता होने की जानकारी दी गयी.

इसे भी पढ़ें- West Bengal Election: BJP के उम्मीदवारों की लिस्ट में TMC के नेता का नाम, कहा- मैंने तो ज्वाइन ही नहीं की भाजपा

गड्ढे से निकलता दिखा धुंआ

इधर, ग्रामीणों व स्वजनों ने बच्ची को खोजना शुरू किया. इसी दौरान घर से कुछ पर स्थित गड्ढे में धुआं उठते देखा गया.  वहां पर जाकर सभी ने देखा, तो जला हुआ बच्ची का शव बरामद किया गया.  इसके बाद अनगड़ा थाने को इसकी सूचना दी गई. सूचना पाकर पुलिस घटनास्थल पर पहुंच और मामले की जांच की.  इधर, सूचना पाकर भुवनेश्वर महतो लगभग 12.30 बजे गांव पहुंचा। बेटी का शव देखकर वह बिलखने लगा. बाद में पूरी तरह से शांत हो गया.

इसे भी पढ़ें- राम मंदिर का काम तभी पूरा होगा, जब देश एक साथ होगा : आरएसएस

दिन भर पुलिस को घुमाती रही आरोपी

बेटी की हत्या की आरोपी सुनीता  (SUNITA) ग्रामीणों व पुलिस को पूरे दिन घुमाती रही. शुरुआत में उसने बताया कि वह बड़ी बेटी खुशी को साथ लेकर गांव के कुएं में नहाने चली गई थी. इस दौरान वह दुधमुंही बच्ची को घर में ही सुलाकर गई थी. नहाकर आने के बाद वह घर में घुसकर बच्चे को खोजने का दिखावा करने लगी. बाद में उसने चिल्ला-चिल्ला करके भी लोगों के बुलाया लिया.

पुलिस (Police) के समक्ष भी उसने भी यही बात बताई। हालांकि, पुलिस को सुनीता पर पहले से ही शक था. शाम लगभग छह बजे अनगड़ा थाने की पुलिस पुन: गांव पहुंची और महिला से कड़ाई से पूछताछ की. इसके बाद उसने डीएसपी ख्रीस्टोफर केरकेट्टा के सामने अपना जुर्म स्वीकारा. इसके बाद उसे थाने ले आई.

इसे भी पढ़ें- ओएलईडी डिस्प्ले के साथ 2022 में आईपैड एयर लॉन्च कर सकता है एप्पल

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें