Union Cabinet Expansion 2021: मोदी ने बनाया चुनावी केबिनेट, यूपी से 7 नए मंत्री
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| Union Cabinet Expansion 2021: मोदी ने बनाया चुनावी केबिनेट, यूपी से 7 नए मंत्री

Union Cabinet Expansion 2021: मोदी ने बनाया चुनावी केबिनेट, यूपी से सात नए मंत्री

Union Cabinet Expansion 2021 : नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी दूसरी सरकार में पहली फेरबदल देर से की लेकिन बहुत बड़ी की। उन्होंने पूरी सरकार को उलट-पलट दिया। बुधवार को कुल 43 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई, जिसमें 15 कैबिनेट और 28 राज्यमंत्री हैं। उनकी सरकार में पहले से राज्यमंत्री रहे कई मंत्रियों को प्रमोशन देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया। भाजपा की तीन सहयोगी पार्टियों जनता दल यू, अपना दल और लोक जनशक्ति पार्टी से एक-एक मंत्री सरकार में शामिल किए गए। इस फेरबदल के बाद मोदी मंत्रिमंडल में मंत्रियों की संख्या 77 हो गई है। सात साल से ज्यादा के शासन में पहली बार मोदी की सरकार में इतने मंत्री बने हैं।

दूध पीना और महंगा! Mother Dairy ने भी बढ़ाए दूध के दाम, कल से 2 रुपए देने होंगे ज्यादा

बहरहाल, बुधवार को कैबिनेट मंत्री पद की शपथ लेने वालों में कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे और मध्य प्रदेश के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्य रहे। असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को फिर से कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। ओड़िशा के पूर्व आईएएस अधिकारी अश्विनी वैष्णव को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। बिहार से जदयू कोटे से पूर्व आईएएस अधिकारी और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह और हाल ही में लोजपा में बगावत करके पांच सांसदों के साथ अलग हुए पशुपति पारस को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। कैबिनेट मंत्री बनने वाले नए नेताओं में भाजपा के महासचिव भूपेंद्र यादव और मध्य प्रदेश के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र कुमार भी शामिल हैं।

Union Cabinet Expansion 2021

मोदी सरकार में स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री या राज्यमंत्री के तौर पर काम कर रहे, सात नेताओं को प्रमोशन देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। इनमें पूर्व आईएएस अधिकारी आरके सिंह और पूर्व आईएएफ अधिकारी हरदीप सिंह पुरी के अलावा अनुराग ठाकुर, कीरेन रिजीजू, मनसुख मांडविया, पुरुषोत्तम रूपाला और जी किशन रेड्डी शामिल हैं। इनके अलावा 28 राज्यमंत्री बनाए गए हैं, जिनमें से सबसे ज्यादा सात मंत्री उत्तर प्रदेश से हैं। उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं।

केंद्र सरकार में कुल 81 मंत्री ( Union Cabinet Expansion 2021 ) हो सकते हैं लेकिन पिछले काफी समय से नरेंद्र मोदी 53 मंत्रियों के साथ काम कर रहे थे। नए मंत्रियों को शामिल करने के लिए सरकार के एक दर्जन मंत्रियों से इस्तीफा कराया गया, जिनमें कई वरिष्ठ मंत्री भी शामिल थे। मोदी की नई सरकार में कुल 11 महिलाएं हो गई हैं। 2014 में पहली बार मंत्रिमंडल में सात महिलाओं को शामिल किया गया था। और 2019 में पांच महिला मंत्री थीं। इनमें से बाद में हरसिमरत सिंह कौर कैबिनेट से हट गई थीं। बुधवार को सात महिला मंत्रियों ने शपथ ली, जिनमें भाजपा की अन्नपूर्ण देवी, मीनाक्षी लेखी, शोभा करंदलाजे, दर्शना विक्रम जरदोश, प्रतिमा भौमिक, भारती प्रवीण पवार और अपना दल की अनुप्रिया पटेल शामिल हैं। इनकी मंत्री बनने के बाद यह संख्या 11 पहुंच गई है।

Narendra modi

मंत्रिमंडल विस्तार में जिन 28 लोगों को राज्यमंत्री बनाया गया है उनमें उद्योगपति राजीव चंद्रशेखर का नाम प्रमुख है। उनके अलावा उत्तराखंड से अजय भट्ट को मंत्री बनाया गया है। पश्चिम बंगाल के दो मंत्रियों को हटाया गया तो तीन नए मंत्री बनाए गए। निशिथ प्रमाणिक और शांतनु ठाकुर के अलावा बंगाल के विभाजन की मांग करने वाले जॉन बारला को भी राज्यमंत्री बनाया गया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की भरोसेमंद सांसद शोभा करंदलाजे को भी मंत्री बनाया गया है।

12 मंत्रियों का इस्तीफा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में शामिल हुए नए मंत्रियों की शपथ से पहले बुधवार को उनके पुराने मंत्रियों के इस्तीफे की झड़ी लग गई। कुल एक दर्जन मंत्रियों ने इस्तीफा दिया, जिसमें पांच बड़े कैबिनेट मंत्री शामिल हैं। माना जा रहा है कि नए मंत्रियों के लिए जगह बनाने के लिए इन मंत्रियों से इस्तीफा देने को कहा गया था। यह भी कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के समय ठीक से काम नहीं करने और सरकार की बदनामी का कारण बने मंत्रियों की छुट्टी की गई है।

मोदी की नई कैबिनेट के 90 प्रतिशत मंत्री करोड़पति हैं, 42% पर आपराधिक मामले : ADR की रिपोर्ट

Union Cabinet Expansion 2021

स्वास्थ्य विभाग के कैबिनेट मंत्री को चलता कर दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन को हटा दिया गया। तीन मंत्रालय संभाल रहे रविशंकर प्रसाद की सरकार से छुट्टी हो गई है तो तीन बड़े मंत्रालय संभाल रहे प्रकाश जावडेकर को भी बाहर का रास्ता दिखा गया है। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा को भी सरकार से बाहर कर दिया गया है और शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की भी सरकार से छुट्टी हो गई है।

modi new cabinet

मंत्रियों को सरकार से हटाए जाने की शुरुआत मंगलवार को ही हो गई थी, जब वरिष्ठ मंत्री थावरचंद गहलोत को कर्नाटक का राज्यपाल बनाए जाने की घोषणा हुई। छह कैबिनेट मंत्रियों के अलावा छह राज्यमंत्रियों का इस्तीफा हुआ। पश्चिम बंगाल में विधानसभा का चुनाव हारे बाबुल सुप्रियो को सरकार से हटा दिया गया है। उनके अलावा मोदी सरकार की मंत्री देबोश्री चौधरी का भी इस्तीफा हो गया है।

दूध पीना और महंगा! Mother Dairy ने भी बढ़ाए दूध के दाम, कल से 2 रुपए देने होंगे ज्यादा

कोरोना वायरस की पहली लहर के दौरान मजदूरों के पलायन की वजह से केंद्र सरकार की बड़ी बदनामी हुई थी। उसका खामियाजा अब जाकर श्रम व रोजगार मंत्री संतोष गंगवार को भुगतना पड़ा है। बुधवार को उनको भी सरकार से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। ओड़िशा के प्रताप चंद्र सारंगी को भी सरकार से हटा दिया गया है। महाराष्ट्र के संजय धोत्रे और हरियाणा के रतनलाल कटारिया को भी सरकार से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। Union Cabinet Expansion 2021

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow