UP First Aayush University : CM Yogi देंगे AYUSH University की सौगात
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| UP First Aayush University : CM Yogi देंगे AYUSH University की सौगात

CM Yogi गोरखपुर को देंगे AYUSH University की सौगात, राष्ट्रपति करेंगे शिलान्यास व लोकार्पण

गोरखपुर | UP First Aayush University : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) अब गोरखपुर की तस्वीर बदलने जा रहे हैं। गोरखपुर (Gorakhpur) में 28 अगस्त को राज्य के पहले आयुष विश्वविद्यालय (AYUSH University) की नींव रखी जाएगी। जिसका शिलान्यास व लोकार्पण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) करेंगे। गोरक्षपीठ की तरफ से स्थापित निजी विश्वविद्यालय ‘शिक्षार्थ आइए, सेवार्थ जाइए’ की भावना से जनता को समर्पित किया जाएगा।


UP First Aayush University : राज्य में बनने जा रहे ये दोनों ही विश्वविद्यालय सीएम योगी की ही सौगात है। योग सहित प्राकृतिक व परंपरागत चिकित्सा पद्धतियों को प्रोत्साहित करने में लगी योगी सरकार का यह बड़ा कदम है। ये दोनों विश्वविद्यालय विश्व विख्यात नाथपंथ के अधिष्ठाता महायोगी गुरु गोरखनाथ के नाम से हैं। गौरतलब है कि, गोरखपुर में पंडित दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय तथा मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय उच्च शिक्षा के क्षेत्र में पहले से ही अग्रणीय हैं। यूपी में लखनऊ, वाराणसी, झांसी, प्रयागराज, बरेली, बांदा, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत में आयुष मेडिकल कॉलेज हैं। पढ़ाई के साथ ही इन पद्धतियों से यहां पर विभिन्न रोगों का इलाज भी संभव हो सकेगा।

ये भी पढ़ें :- Rajasthan Panchayat Election 2021: 6 जिलों में आज पहले चरण की वोटिंग शुरू, उम्मीदवारों का फैसला कर रहे मतदाता

प्राचीन व पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों साबित होगा मील का पत्थर
आयुष विश्वविद्यालय के माध्यम से प्राचीन व पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों का विकास संभव होगा। इसी के साथ महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय उच्च शिक्षा के विभिन्न आयामों के साथ ही चिकित्सा शिक्षा, अनुसंधान और चिकित्सा का बड़ा केंद्र बनेगा। यहीं नहीं, गोरखपुर में एम्स भी बनकर तैयार हो चुका है। ऐसे में गोरखपुर चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा।

ये भी पढ़ें :- यात्रीगण कृप्या ध्यान दे! भारतीय रेलवे ने इन 10 महोत्सव विशेष ट्रेनों की सेवाओं का विस्तार किया, पूरी सूची यहां देखें..

मार्च 2023 तक निर्माण पूर्ण करने का लक्ष्य
UP First Aayush University : आयुष विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य मार्च 2023 तक पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। आयुष विश्वविद्यालय गोरखपुर के भटहट ब्लॉक के पिपरी व तरकुलही में 52 एकड़ भूमि पर बनेगा। आयुष विश्वविद्यालय में एक ही परिसर में आयुर्वेदिक, यूनानी, सिद्धा, होम्योपैथी और योग चिकित्सा की पढ़ाई और उस पर शोध कार्य हो सकेंगे।

राष्ट्रपति द्वारा शिलान्यास के तत्काल बाद से इस विश्वविद्यालय के निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके परिसर में एकेडमिक भवन, प्रशासनिक भवन, आवासीय भवन, छात्रावास, गेस्ट हाउस के अलावा आडिटोरियम और सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक भी बनाया जाएगा। आयुष विश्वविद्यालय के निर्माण पर करीब एक हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
जनसंख्या नीति राजनीतिक एजेंडा है!
जनसंख्या नीति राजनीतिक एजेंडा है!