विकास दुबे की मौत हेमरेज और सदमे के कारण हुई

कानपुर। उत्तर प्रदेश कानपुर के दुर्दांत अपराधी विकास दुबे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सोमवार को सामने आई। रिपोर्ट में बताया गया कि विकास की मौत गोली लगने के बाद हेमरेज (खून बहने) और सदमे की वजह से हुई। रिपोर्ट में विकास के शरीर पर 10 जख्म होने की बात कही गई है। पोस्टमर्टम रिपोर्ट में गोली लगने के बाद अधिक खून बहने से हेमरेज के कारण मौत बताई गई है।

एनकाउंटर में विकास के तीन गोलियां आरपार हुई थीं। शरीर में 10 जख्म थे। पहली गोली दाहिने कंधे और अन्य दो गोलियां बाएं सीने में लगी थीं। फोरेंसिक एक्सपर्ट के मुताबिक पोस्टमर्टम रिपोर्ट दस इंजरी का जिक्र है। विकास दुबे की पोस्टमर्टम रिपोर्ट में छह इंजरी गोलियों की हैं।

गौरतलब हो कि कानपुर के बिकरू गांव में दो जुलाई की रात को विकास दुबे के घर दबिश देने गई पुलिस की टीम पर घात लगाकर बैठे बदमाशों ने हमला कर दिया था, जिसमें सीओ सहित आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए।

पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्रवाई कर विकास दुबे के साथियों को मुठभेड़ में मार गिराया। वहीं कई लोगों को गिरफ्तार भी कर चुकी है। विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर में पकड़ा गया। उज्जैन से कानपुर लाते समय वह पुलिस मुठभेड़ में मारा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares