vladimir putin visit India मोदी-पुतिन ने दोस्ती की प्रतिबद्धता दोहराई
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| vladimir putin visit India मोदी-पुतिन ने दोस्ती की प्रतिबद्धता दोहराई

मोदी-पुतिन ने दोस्ती की प्रतिबद्धता दोहराई

vladimir putin visit India

नई दिल्ली। एक दिन के दिल्ली दौरे पर पहुंचे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने भारत और रूस की पुरानी दोस्ती को याद किया और इसके प्रति प्रतिबद्धता दोहराई। प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारत और रूस के दोस्ती का बेहतरीन समय चल रहा है। पुतिन ने भी कहा कि उनका देश हमेशा भारत को एक भरोसेमंद देश के रूप में देखता है। vladimir putin visit India

Read also महाराष्ट्र में निकाय चुनावों में आरक्षण पर रोक

इससे पहले दिल्ली पहुंचने पर प्रधानमंत्री मोदी ने हैदराबाद हाउस में पुतिन का स्वागत किया, जहां दोनों के बीच भारत-रूस शिखर वार्ता हुई। बाद में मीडिया के सामने दोनों नेताओं ने साझा बयान दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत हमारा रक्षा सहयोग और मजबूत हो रहा है। रक्षा और आर्थिक क्षेत्र में दोनों देश अहम सहयोगी है। कोरोना के खिलाफ भी सहयोग रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा- आर्थिक क्षेत्र में भी हमारे रिश्तों को आगे बढ़ाने के लिए हम बड़े विजन पर काम कर रहे हैं। हमने 2025 तक 30 बिलियन डॉलर ट्रेड और 50 बिलियन डॉलर के निवेश का लक्ष्य रखा है। पुतिन ने इस दौरान कहा- हम भारत को एक महान शक्ति, भरोसेमंद दोस्त के रूप में देखते हैं। उन्होंने कहा- मुझे भारत का दौरा करके बहुत खुशी हो रही है। पिछले साल दोनों देशों के बीच कारोबार में 17 फीसदी की गिरावट हुई थी, लेकिन इस साल पहले नौ महीनों में कारोबार में 38 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है।

Read also Maharashtra में Omicron का आतंक! अब Mumbai में मिले 2 पाॅजिटिव, राज्य में कुल संख्या हुई 10

भारत और रूस के रिश्तों का जिक्र करते हुए पुतिन ने कहा- हम भारत को एक महान शक्ति और ऐसा दोस्त मानते हैं जो वक्त की कसौटी पर खरा उतरा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- कोरोना काल की चुनौतियों के बावजूद भारत और रूस के रिश्तों में लगातार मजबूती आई है। हमारे विशेष रणनीतिक साझेदारी लगातार मजबूत हुई है। उन्होंने कहा- पिछले कुछ दशकों में दुनिया में कई बुनियादी बदलाव हुए हैं। साथ ही कई भू-राजनीतिक समीकरण उभरे हैं, लेकिन इस बीच भारत और रूस की मित्रता लगातार स्थायी रही है। दोनों देशों के बीच संबंध अद्वितीय और भरोसेमंद रहे हैं और दूसरों के लिए उदाहरण हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आयकर हटाएं, जायकर लगाएं
आयकर हटाएं, जायकर लगाएं