370 के बिना चुनाव नहीं लड़ेंगी महबूबा - jammu kashmir mehbooba mufti
देश | जम्मू-कश्मीर | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| %%title%% %%page%% %%sep%% jammu kashmir mehbooba mufti

370 के बिना चुनाव नहीं लड़ेंगी महबूबा

jammu kashmir mehbooba mufti नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि अगर जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 बहाल नहीं किया जाता है तो वे चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने हालांकि कहा है कि उनकी पार्टी चुनाव लड़ेगी। हालांकि उन्होंने साफ कर दिया है कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीत जाती है तब भी वे मुख्यमंत्री नहीं बनेंगी। गौरतलब है कि एक दिन पहले ही महबूबा मुफ्ती और जम्मू कश्मीर की कई पार्टियों के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले थे।

pm narendra modi with Jammu Kashmir Political Leader

मोदी से मुलाकात के एक दिन बाद महबूबा ने एक निजी टेलीविजन चैनल से कहा कि जब तक राज्य में अनुच्छेद 370 बहाल नहीं होता, तब तक वे चुनाव नहीं लड़ेगी। महबूबा ने कहा कि अगर चुनावों में उनकी पार्टी जीत भी जाती है, तब भी वे मुख्यमंत्री नहीं बनेंगी। उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जम्मू कश्मीर के राजनीतिक नेताओं की बैठक बुलाई तो उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ। उन्होंने कहा- इस क्षेत्र में बहुत अधिक उत्पीड़न है।

गौरतलब है कि भाजपा के कई नेताओं ने पीडीपी के नेताओं को आतंकियों से सहानुभूति रखने वाला बताय था फिर भी प्रधानमंत्री की बैठक में बुलाए जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा- आप यह गलत व्यक्ति से पूछ रहे हैं। इसका जवाब सिर्फ प्रधानमंत्री या गृह मंत्री ही दे पाएंगे। महबूबा ने कहा- जम्मू कश्मीर में बहुत अत्याचार हो रहा है। लोग सांस भी नहीं ले पा रहे हैं। जम्मू कश्मीर में जमीनी स्थिति वैसी नहीं है जैसी वे दुनिया के सामने पेश कर रहे हैं। लोग नाखुश हैं और घुटन महसूस कर रहे हैं।

महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार के बारे में कहा- उन्होंने महसूस किया है कि उनकी योजना के अनुसार चीजें नहीं हुई हैं, और शायद थोड़ी सहानुभूति के कारण जो वे छोड़ गए थे, उन्होंने हमसे मिलने का फैसला किया। उन्होंने कहा- हम प्रधानमंत्री के कार्यालय के सम्मान के लिए वहां गए थे। jammu kashmir mehbooba mufti

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
घने जंगल कहां गए?
घने जंगल कहां गए?