योगी करेंगे ट्रंप की आगरा यात्रा की समीक्षा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल आगरा के दौरे पर जाने वाले हैं। इस दौरान वे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आगरा की यात्रा के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति और प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप 24 फरवरी को ताजमहल का दौरा कर सकते हैं। वे शहर में दो घंटे ठहरेंगे।

सरकारी प्रवक्ता के अनुसार, मुख्यमंत्री खेरिया एयरबेस से ताजमहल तक के मार्ग का निरीक्षण करेंगे। इसके बाद वे अधिकारियों के साथ एक उच्चस्तरीय बैठक भी करेंगे। ट्रंप की यात्रा के मद्देनजर सोमवार को अमेरिकी दूतावास की एक टीम भी आगरा का दौरा करने वाली है। राज्य के मेहमानों की यात्रा की तैयारियों पर प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा सीधे तौर पर निगरानी रखी जा रही है। आगरा के डिविजनल कमिशनर अनिल कुमार ने राज्य में आने वाले मेहमानों के लिए सभी व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपी हैं।

इस विशेष अवसर के लिए आगरा नगर निगम (एएमसी) ने ताजमहल जाने वाले मार्ग पर सफाई अभियान चलाया। पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी 17वीं शताब्दी के स्मारक के आसपास स्थित सभी अतिक्रमणों को हटा रहे हैं। वहीं जिला मजिस्ट्रेट प्रभु नारायण सिंह ने वीवीआईपी मार्ग पर मरम्मत कार्य, सड़क के डिवाइडर पर पेंट करने, सड़क के दोनों तरफ दीवारें बनवाने, अनधिकृत और फटे होडिर्ंग्स को हटाने, आवारा जानवरों को हटाने और उच्च स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं।

नगर आयुक्त अरुण प्रकाश के अनुसार, अमेरिका के राष्ट्रपति की यात्रा से पहले सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के लिए हमारी टीमें पहले से ही काम पर लगी हैं। मुख्यमंत्री के 18 फरवरी को प्रस्तावित निरीक्षण से पहले सभी अतिक्रमण, अनधिकृत होडिर्ंग्स को हटा दिया जाएगा। सड़क की मरम्मत का काम भी शुरू हो गया है और बहुत जल्द पूरा हो जाएगा। पूरे वीवीआईपी मार्ग को मेहमानों के स्वागत के लिए अच्छी तरह से सजाया जाएगा।

वहीं वीवीआईपी दौरे के दौरान 5000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। साथ ही 200 अधिकारी और कई इंटेलिजेंस एजेंसी भी ड्यूटी पर रहेंगे। मार्ग में पड़ने वाले सभी आवासीय और सरकारी भवनों की जांच की जाएगी। घरों में रहने वाले और दुकानों और शोरूम में काम करने वाले लोगों का सत्यापन कार्य भी शुरू कर दिया गया है। साथ ही वहां स्थित होटलों के मालिकों को भी 18 फरवरी से आने वाले सभी मेहमानों का दैनिक आधार पर विवरण साझा करने के लिए कहा गया है।

वहीं पुलिस ने 400 ऐसे संभावित परेशानी उत्पन्न करने वालों की पहचान की है, जिन्होंने कई बार अमेरिका के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। उनमें से कुछ ने हाल ही में इराक पर अमेरिकी हमले और ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का विरोध किया था। यात्रा के दौरान आसपास के क्षेत्रों की गतिविधियों पर नजर बनाए रखने के लिए ड्रोन कैमरों का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares