nayaindia पंचांग 18 अक्टूबर शुक्रवार - Naya India
लाइफ स्टाइल | पंचांग| नया इंडिया|

पंचांग 18 अक्टूबर शुक्रवार

शुभ विक्रम संम्वत 2076  परिधावी नाम संवत्सर, शाके:1941 ।मु.मास-  सफर 18, शरद ऋतू, कार्तिक मास कृष्ण पक्ष

शुभ तिथि चतुर्थी रिक्ता संज्ञक तिथि प्रातः 7 बजकर 29 मिनट तक तत्पश्चात पंचमी तिथि रहेगी । चतुर्थी तिथि मे अग्नि,विषादिक असद कार्य,शत्रु मर्दन,इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है | शुभ और मांगलिक कार्य वर्जित है | चतुर्थी तिथि मे जन्मे जातक धनवान, बुद्धिवान, भाग्यवान,पराक्रमी  होते है।
रोहिणी “ध्रुव-उर्ध्वमुख” संज्ञक नक्षत्र सायं 4 बज कर 59 मिनट तक तत्पश्चात मृगशिर “मृदु” संज्ञक नक्षत्र रहेगा | रोहिणी  नक्षत्र मे यथा आवश्यक विवाह,धन संचय,देव ग्रह, देव कृत्य इत्यादि कार्य सिद्ध होते है। रोहिणी नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक जनप्रिय, सुमार्ग पर चलने वाला, सुन्दर, धनवान, बुद्धिमान होता है
चन्द्रमा  सम्पूर्ण दिन  वृषभ राशि में संचार करेगा |
व्रतोत्सव –   रोहिणी व्रत, सक्रांति पुण्यकाल पूर्वाह्न में
राहुकाल – प्रातः 10.30 बजे से 12 बजे तक
दिशाशूल – शुक्रवार को पश्चिम दिशा मे दिशाशूल रहता है । यात्रा को सफल बनाने लिए घर से जौ खा कर निकले।
आज के शुभ चौघड़िये – सूर्योदय से पूर्वाह्न 10.47 तक लाभ, अमृत का, दोपहर 12.12 मिनट से  1.37 तक शुभ का, सायं 4.27 से सूर्यास्त तक चर का चौघड़िया

इसे भी पढ़ें : राशिफल 18 अक्टूबर शुक्रवार

Leave a comment

Your email address will not be published.

9 − 8 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ज्ञानवापी विवाद में कूदे ओवैसी
ज्ञानवापी विवाद में कूदे ओवैसी