पंचांग 25 मार्च बुधवार

शुभ मास-चैत्र मास शुक्ल पक्ष
शुभ तिथि प्रतिपदा नन्दा संज्ञक तिथि सायं 5 बजकर 27 मिनट तक तत्पश्चात द्वितीय तिथि रहेगी । शुक्ल पक्ष कि प्रतिपदा तिथि मे सभी प्रकार के शुभ और मांगलिक कार्य,विवाह,यज्ञोपवीत,उत्सव,यज्ञादि कार्य विशेष शुभ माने जाते हैं | प्रतिपदा तिथि मे जन्मे जातक धनवान, बुद्धिवान, सदा प्रसन्न रहने वाला ,भाग्यवान,पराक्रमी  होते है।

शुभ नक्षत्र  रेवती नक्षत्र सम्पूर्ण दिन रात्रि  रहेगा | रेवती नक्षत्र मे स्थिर कार्य,वास्तु,शांति कर्म,विवाह इत्यादि मांगलिक कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है ।रेवती नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक धनी ,साहसी,प्रसिद्ध ,सुन्दर , धनवान, बुद्धिमान होता है
चन्द्रमा  सम्पूर्ण दिन  मीन राशि में संचार करेगा |

व्रतोत्सव – बसंत नवरात्रा शुरू,,चेटीचंड ,गुड़ीपड़वा। चांद्र संवत्सर प्रारम्भ
चैत्र नवरात्र 2020 घट स्थापना मुहूर्त
द्विस्वभाव मीन लग्न में प्रातः 6-29 से प्रातः 7-26 तक घट स्थापना का शुभ मुहुर्त रहेगा |
द्विस्वभाव मिथुन लग्न में दोपहर 11-00 बजे से दोपहर 12-09 मिनट तक भी घट स्थापना मुहूर्त रहेगा |

घट स्थापना का चौघड़िया मुहूर्त –
प्रातः 6-29 से प्रातः 9-31 तक

लाभ – अमृत के चौघड़िया में , दोपहर 11-02 से दोपहर 12-09 तक शुभ के चौघड़िया में घट स्थापना करी जा सकती है |
नोट – प्रतिपदा के दिन बुधवार होने से अभिजीत मुहूर्त त्याज्य रहेगा अतः अभिजीत समय दोपहर 12-09 मिनट से दोपहर 12-57 मिनट घट स्थापना नहीं करनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares