दीपावली के बाद दमघोंटू बनी दिल्ली की हवा - Naya India
लाइफ स्टाइल | जीवन मंत्र| नया इंडिया|

दीपावली के बाद दमघोंटू बनी दिल्ली की हवा

नई दिल्ली। दिल्ली में दीपावली के बाद पटाखों के धुंआ का जहर इतना घुला की पूरी दिल्ली हवा दमघोंटू बन गई। इससे सबसे ज्यादा तकलीफ बच्चों और बुजुर्गो को हुई। जिन दिल की बीमारी या सांस से संबंधित दूसरी समस्या है धुएं की वजह से उनके तो जान पर बन आई है। दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) शहर में धुंध का आवरण मोटा होने के साथ खतरनाक हो गया और एक्यूआई सूचकांक मंगलवार शाम को तेजी से बढ़ गया। अमेरिकी दूतावास के आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार शाम प्रदूषक पीएम 2.5 के लिए एक्यूआई गणना 350 है। एक्यूआई का 300 से ऊपर होना स्वास्थ्य पर होने वाले खतरे की आपात स्थिति होती है। इससे पूरी जनसंख्या पर गंभीर स्वास्थ्य संबंधी प्रभाव पड़ने की आशंका होती है।

अमेरिकी दूतावास के आंकड़े के अनुसार, एक्यूआई सुबह में मंद रहा, यह अपराह्न् करीब एक बजे बदतर स्थिति में पहुंचा और शाम चार बजे 355 के आंकड़े पर पहुंचा। दिवाली के बाद दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में पटाखों के फटने के कारण प्रदूषण उच्चस्तर पर पहुंच गया।सफर इंडिया के अनुमान के अनुसार, दिल्ली के समग्र वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ है, 24 घंटे के लेड प्रदूषक (पीएम 2.5) का औसत मान मंगलवार सुबह 250 से नीचे हो गया है, जो बहुत खराब कहा गया था। सफर के अनुमान में संकेत है कि मौजूदा साल (2019) में दिवाली की अवधि के दौरान समग्र प्रदूषण का स्तर बीते तीन सालों की तुलना में बेहतर पाया गया। सीमावर्ती हवाओं की रफ्तार ने सोमवार रात के अतिरिक्त भार को बाहर निकालने में मदद की।

ये खबर भी पढ़ें: कम उम्र में वजन बढ़ने से मौत का खतरा

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *