स्मोक हाउस डेली में बेहतरीन बदलाव - Naya India
लाइफ स्टाइल | जीवन मंत्र| नया इंडिया|

स्मोक हाउस डेली में बेहतरीन बदलाव

नई दिल्ली। पिछले लगभग एक दशक से यूरोपीय व्यंजनों के लिए लोगों की पसंदीदा जगहों में से एक स्मोक हाउस डेली को अब एक बिल्कुल नए अवतार में पेश किया गया है। स्मोक हाउस डेली 2.0 के नाम से मशहूर इस रेस्तरां का शुभांरभ साकेत के डीएलएफ एवेन्यू में दो मार्च को किया गया।

इसके इस नए संस्करण में कई सारी नई व बेहतरीन चीजें शामिल हैं, जिसके बारे में स्मोक हाउस डेली के बिजनेस हेड जयदीप मुखर्जी से बात की। स्मोक हाउस डेली के इस नए संस्करण, नए मेन्यू के बारे में बताएं और इस बदलाव की क्या जरूरत थी?

जयदीप : स्मोक हाउस डेली लजीज यूरोपीय व्यंजनों के लिए लोगों में मशहूर है। ग्राहकों के स्वास्थ्य से संबंधित चीजों और वर्तमान शैली में ज्यादा कुछ बदलाव नहीं किया गया है। जब मैं दो साल पहले इस कंपनी से जुड़ा, तब मैंने सोचा था कि इसके साथ और भी कई सारी चीजें कर सकते हैं और यही वजह है कि स्मोक हाउस डेली 2.0 में थोड़ा-बहुत बदलाव लाया गया है।

मैंने एक नया मेन्यू पेश किया है, जो बेहद स्वास्थ्यवर्धक है। अब हम अच्छे खेत, किसानों और को-ऑपरेटिव्स संग जुड़े हैं। हमने खाने में स्थानीय चीजों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। हमने ऑर्गेनिक और स्वास्थ्यवर्धक खाने से संबंधित क्षेत्रों में बेहतरीन काम करने वाले कुछ लोगों के साथ भी काम शुरू किया है। मेन्यू में ऐसी कई सारी चीजें हैं, जो 100 प्रतिशत जैविक हैं, ये सीधे खेतों से आती हैं।

इस बदलाव के लिए किस तरह के रिसर्च किए गए?

जयदीप : पहले चरण में पाक कला से संबंधित तकनीक पर शोध किए गए। खाने में पौष्टिकता को बनाए रखने, स्थानीय खाद्य पदार्थो का इस्तेमाल करने और मौसम पर भी रिसर्च किया गया, यानी किस मौसम में कौन-सी चीज अच्छी है, लोगों का क्या पसंद है या उनके लिए क्या बेहतर है।

किस तरह की चुनौतियों का आपने सामना किया है?

जयदीप : मुख्य चुनौती पैमाने की थी। सतारा में खेती करने वाले एक किसान से जब मुंबई में उत्पादों की आपूर्ति करने के लिए कहा गया, तो उसने कहा कि वह ऐसा नहीं कर सकता, आप खुद ही आकर ले जाओ, तो हमने इस तरह की समस्याओं का सामना किया है। बहरहाल, अब हम बड़े पैमाने पर कई लोगों के साथ जुड़कर काम कर रहे हैं। ऐसे लोग जो अपने काम को बिजनेस के तौर पर तो करते हैं, लेकिन साथ ही साथ अपने इरादे भी साफ रखते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *