Heart attack is the cause of all death :सभी की मौत का कारण है हार्ट अटैक
लाइफ स्टाइल| नया इंडिया| Heart attack is the cause of all death :सभी की मौत का कारण है हार्ट अटैक

देश के पहले प्रधानमंत्री से लेकर सुपरस्टार देवानंद तक..सभी की मौत का कारण है हार्ट अटैक

Heart attack is the cause of all death
  1. जवाहरलाल नेहरु-

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का निधन 27 मई 1964 को सुबह हार्ट अटैक से हुआ था। हालांकि इससे कुछ महीने पहले भी उन्हें एक और दिल का दौरा पड़ा था लेकिन तब उन्हें बचा लिया गया। निधन के दिन से एक दिन पहले ही वो देहरादून से 04 दिन की छुट्टी बिताकर लौटे थे और उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था। जब उनका निधन हुआ तब वो 74 साल के थे. नेहरू 17 साल तक देश के प्रधानमंत्री रहे। ( Heart attack is the cause of all death)

also read: सोमवार को ही क्यों आते है सबसे ज्यादा हार्ट अटैक, स्वीडिश रजिस्ट्री ने किया बड़ा खुलासा

  1. लाल बहादुर शास्त्री-

देश के दूसरे प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री का निधन भी जनवरी 1966 में दिल के दौरे से बताया जाता है। वो पाकिस्तान के शासक अयूब खान के साथ 1965 के युद्ध के बाद समझौता करने ताशकंद गए थे। वहीं रात में खाने के बाद उन्हें दिल का दौरा पड़ा। जब तक डॉक्टर को बुलाया जाता, उनका निधन हो चुका था। हालांकि शास्त्री के निधन को लेकर अब भी ये रहस्य है कि क्या वाकई उनका निधन दिल के दौरे से हुआ या फिर उन्हें जहर दिया गया था।

  1. विक्रम साराभाई –

देश से इस शीर्ष वैज्ञानिक का निधन केरल के कोवलम बीच पर स्थित एक रेसोर्ट में रहस्यमय हालात में हुआ। जब वह रात में सोने गए तो एकदम स्वस्थ लग रहे थे। सुबह बिस्तर पर उन्हें मृत पाया गया। 31 दिसंबर 1971 को सुबह जब उन्हें इस हाल में पाया गया तो डॉक्टर ने जांच करके बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। तब उनकी उम्र महज 52 साल थी। वह अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत को पहचान देने वाले वैज्ञानिक के तौर पर उभरे थे। उन्हें आईआईएम अहमदाबाद का जन्मदाता भी माना जाता है। ( Heart attack is the cause of all death)

  1. एपीजे अब्दुल कलाम-

देश के पूर्व राष्ट्रपति और मशहूर वैज्ञानिक एपीजे अब्दुल कलाम का निधन भी दिल के दौरे से हुआ। 83 वर्ष के अब्दुल कलाम अपनी शानदार वाक कला के लिए मशहूर थे। आईआईएम शिलांग में एक लेक्चर के दौरान ही उन्हें दिल का दौरा पड़ा और बचाया नहीं जा सका। वह बेहोश होकर गिर पड़े। फिर उनकी मृत्यु हो गई।

  1. पीवी नरसिंह राव-

भारत के नौवें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने वाले पामुलापति वेंकट नरसिंह राव का निधन हार्ट अटैक से हुआ। लाइसेंस राज की समाप्ति और भारतीय अर्थव्यवस्था को खोलने का उन्हीं के प्रधानमंत्री के कार्यकाल में शुरू हुआ था। नरसिंह राव आन्ध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे।

  1. बाल ठाकरे-

हिन्दुस्तान और महाराष्ट्र के प्रसिद्ध राजनेता एवं शिव सेना प्रमुख बाल ठाकरे का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ। महाराष्ट्र की राजनीति पर बाल ठाकरे की मजबूत पकड़ थी। उन्होंने अपना कॅरियर एक कार्टूनिस्ट के रूप में शुरू किया था। बाद में उन्होंने मराठी में ‘सामना’ नाम से एक अखबार भी निकाला।

  1. सुनील दत्त-

पूर्व केंद्रीय खेल और युवा मामलों के मंत्री और मशहूर फिल्म अभिनेता सुनील दत्त का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ। सुनील दत्त मुंबई से पाँच बार कांग्रेस के सांसद रह चुके थे। फिल्मी प्रशंसक सुनील दत्त को “दत्त साहब” के नाम से जानते थे।

  1. ओमपुरी-

66 साल की उम्र में मुंबई के अंधेरी में दिल का दौरा पड़ने से फिल्म जगत के जाने माने अभिनेता और कई प्रतिष्ठित अवार्ड जीतने वाले ओमपुरी का निधन हो गया।  उन्होंने कई यादगार फिल्में दी थीं। अर्धसत्य और जाने भी दो यारों से उन्हें पहचान मिली थी। वो ऐसे अभिनेता थे, जिन्होंने फिल्मों से जुड़े कई बड़े विदेशी प्रोजेक्ट्स पर भी काम किया था।

  1. देवआनंद –

बॉलीवुड के गोल्डेन ईरा के सदाबहार अभिनेता देव आनंद का निधन लंदन में हार्ट अटैक से हुआ। तब वो वहां नियमित चेकअप के लिए वहां गए हुए थे। देव आनंद ने 114 फिल्में कीं। बहुत सी फिल्में उन्होंने बनाई भी। उनका निधन 88 साल की उम्र में वर्ष 2011 में हुआ। ( Heart attack is the cause of all death)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
यूपी में नाइट कर्फ्यू, लॉकडाउन की जरूरत नहीं : मंत्री
यूपी में नाइट कर्फ्यू, लॉकडाउन की जरूरत नहीं : मंत्री