• डाउनलोड ऐप
Wednesday, May 12, 2021
No menu items!
spot_img

क्या 5जी नेटवर्क की देन है कोरोना वायरस, जानिए क्या है पुरा मामला

Must Read

वैसे तो सोशल मीडिया पर कोई ना कोई पोस्ट वायरल होती रहती है जिसमें आधी हकीकत आधा फसाना होता है। लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया पर पोस्ट बहुत वायरल हो रही है। इस पोस्ट में यह बताया जा रहा है कि महामारी कुछ और नहीं बल्कि 5G टेक्नोलॉजी की टेस्टिंग का परिणाम है। इस संबंध में हर रोज कोई न कोई पोस्ट किया जा रहा है। whatsapp पर ये मैसेज वायरल होने के बाद लोग एक-दूसरे से सवाल पूछ रहे हैं कि क्या वास्तव में 5G की वजह से कोरोना देश में तबाही मचा रहा है? इस सवाल का जवाब विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट में दिया गया है…

इसे भी पढ़ें Rajasthan Corona Crisis : जयपुर के इस अस्पताल के 25 नर्सिंगकर्मी Corona Positive, अब अपने ही अस्पताल में तरस रहे बेड के लिए

Radiation से हवा हुई जहरीली

‘हिंदुस्तान’ में छपी खबर के अनुसार, पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर ऐसे संदेशों की भरमार है, जिनमें कोरोना के लिए 5G तकनीक की टेस्टिंग को जिम्मेदार बताया गया है. इन संदेशों में कहा जा रहा है कि 5G टावरों की टेस्टिंग से निकलने वाला रेडिएशन हवा को जहरीला बना रहा है, इसलिए लोगों को सांस लेने में मुश्किल आ रही है। वायरल मैसेज में सरकार से टेस्टिंग पर तुरंत रोक लगाने की मांग भी की गई है। मोबाइल से निकलने वाली रेडिएशन से हम सभी पर बुरा प्रभाव पड़ता है। पशु-पक्षियों और प्रकृति पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। इस पर who ने टिपप्पणी कर ऐसे मैसेज पर तुंरंत रोक लगाने को कहा है।

Testing पर रोक लगाने का सुझाव

वायरल पोस्ट में यह भी कहा गया है कि रेडिएशन की वजह से घर में हर जगह करंट लगता रहता है और गला सामान्य से कुछ ज्यादा सूखता है। इन पोस्ट में कहा गया है कि यदि इन 5G टावरों की टेस्टिंग पर रोक लगा दी जाए, तो सब ठीक हो जाएगा। इन संदेशों को शेयर करने वाले कुछ लोगों ने अपने साथ ऐसा होने का दावा भी किया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने की टिप्पणी

कोरोना महामारी को लेकर फैलाई जा रही इन खबरों पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की रिपोर्ट में जवाब दिया गया है। WHO की रिपोर्ट में ऐसे सभी दावों को फर्जी बताया गया है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 5G मोबाइल नेटवर्क से कोरोना नहीं फैलता। साथ ही यह भी बताया गया है कि कोरोना मोबाइल नेटवर्क और रेडियो तरंगों के साथ एक जगह से दूसरी जगह पर नहीं पहुंच सकता। रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना उन देशों में भी हो रहा है जहां 5जी मोबाइल नेटवर्क नहीं है। इसलिए इस प्रकार की खबप फर्जी है और ऐसी पोस्ट भी। इस प्रकार की पोस्ट को वायरल करने से रोकें।

इसे भी पढ़ें Rajasthan Corona Crisis : जयपुर के इस अस्पताल के 25 नर्सिंगकर्मी Corona Positive, अब अपने ही अस्पताल में तरस रहे बेड के लिए

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

संदीप दीक्षित से भाजपा की उम्मीद

दिल्ली में 15 साल तक मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित से भाजपा ने कुछ उम्मीदें बांध...

More Articles Like This