auspicious time of diwali : जानें पांचों दिन के शुभ पूजा मुहूर्त
लाइफ स्टाइल | धर्म कर्म| नया इंडिया| auspicious time of diwali : जानें पांचों दिन के शुभ पूजा मुहूर्त

दिवाली 2021: 5 दिन का दिवाली का पर्व देता है पूरे साल की खुशहाली, जानें पांचों दिन के शुभ पूजा मुहूर्त

दिल्ली |  दीपों का पांच दिवसीय त्योहार अब शुरू है। इन पांच दिनों के उत्सव, उसकी पूजा का हर दिन का अपना खास महत्व है। मगर दीपावली धुरी है। दीपावाली के दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना का महापर्व है। दीपावली सचमुच पर्वों की माला लिए हुए है और व्यवहारिक मायने में अब इसका विस्तार छठ पूजा तक है। इसकी शुरूआत धनतेरस से है।  ( auspicious time of diwali)

also read: न्यूजीलैंड से भारत के हारने के बाद किंग कोहली का ट्वीट – Sad for the loss..going home now

दीपावली 2021: शुरू पर्व, पांच शुभ दिन, मूहर्रत और पूजा (auspicious time of diwali)

रोशनी के त्योहार, हिंदुओं के सबसे बड़े पर्व दीपावली मनोकामनाओं की कई भावनाओं व मान्यताओं में गुथा हुआ है। पांच दिन और पांच अलग-अलग उत्सव। पहला दिन धनतेरस का। दूसरा दिन छोटी दीवाली। तीसरा दिन यानि हिंदू कार्तिक महिने की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि पर धन की देवी मां लक्ष्मी और गणेशजी की पूजा। चौथे दिन गोवर्धन पूजा पांचवें दिन भैयादूज का पर्व। उस वर्ष दीपावली के पंच उत्सवों के दिन और उनके शुभ समय का कैलेंडर इस तरह है।

दिन एक- 2 नवंबर 2021 धनतेरस दीपावली की शुरुआत धनतेरस की खरीद से है। हिंदू पंचांग के अनुसार धनतेरस की तिथि कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि है। यह इस बार 2 नवंबर 2021, मंगलवार को है।  पूजा का समय शाम 6:37 मिनट से रात 8 बजकर 34 मिनट तक है।

दिन दो- 3 नवंबर 2021  छोटी द‍िवाली दीपावली के एक दिन पहले नरक चतुर्दशी होती है। इस दिन शाम के समय दीप जलाकर अकाल मृत्यु की भय से मुक्ति व बेहतर स्वास्थ्य के लिए लोग यमराज की पूजा करते हैं। मतलब दीप जलाकर अकाल मृत्यु की भय से मुक्ति व बेहतर स्वास्थ्य के लिए लोग यमराज की पूजा करते हैं।इस साल 3 नवंबर 2021, बुधवार को नरक चतुर्दशी तिथि है। रूप चतुर्दुशी के शुभ मुहूर्त में घर के मुख्य द्वार पर चौमुखी दीपक जलाया जाता है दीपक जलाने का शुभ समय शाम 6 बजे से लेकर रात 8 बजे तक रहेगा.

दिन तीन- 4 नवंबर 2021 दीवाली-दीपोत्सव- इस बार 4 नवंबर 2021, गुरूवार को दीपावली है। मान्यता है कि इस दिन विधि विधान से मां लक्ष्मी लक्ष्मी गणेश पूजन की पूजा अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और धन धान्य की कमी नहीं होती। दीपावली पर घरों को रोशनी से सजाया जाता है। दीपावली की शाम को शुभ मुहूर्त में माता लक्ष्मी, भगवान गणेश, मां सरस्वती और धन के देवता कुबेर की पूजा-आराधना होती है।पर्व की अमावस्या तिथि का समय 4 नवंबर 2021, गुरूवार को 06 बजकर 03 मिनट से शुरू होगा होगा और 05 नवंबर 2021, शुक्रवार को 02 बजकर 44 मिनट पर खत्म होगा। ( auspicious time of diwali)

दिन चार- 5 नवंबर 2021 गोवर्धन पूजा दीपावली का अगला दिन गोवर्धन पूजा का।

दिन पांच- 6  नवंबर 2021  भाई दूज दीपोत्सव त्योहार का आखिरी उत्सव।  भाई दूज पर तिलक का शुभ समय सुबह 10:30 से 11:40 तक, फिर 01:24 बजे से शाम को 04:26 मिनट तक, शाम 06:02 मिनट से लेकर रात 10:05 मिनट तक रहेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ट्रेन में खोया सामान? रेलवे ने आपका सामान बचाने के लिए ‘मिशन अमानत’ लॉन्च किया
ट्रेन में खोया सामान? रेलवे ने आपका सामान बचाने के लिए ‘मिशन अमानत’ लॉन्च किया