nayaindia Hanuman Jayanti पर बजरंगबली के प्रिय भोग: विशेष आहार और उनका...
धर्म कर्म

Hanuman Jayanti पर बजरंगबली के प्रिय भोग: विशेष आहार और उनका महत्व

ByNI Desk,
Share

Hanuman Jayanti: विशेष उपासना एवं परंपरा: हिंदू धर्म में अधिकतर लोगों बजरंगबली की भक्ति करते हैं। यह मान्यता है कि हनुमान जयंती पर हनुमान जी को उनके प्रिय भोग लगाने से वह जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। बजरंग बली का जन्मोत्सव चैत्र मास की पूर्णिमा (Chaitra Purnima) को मनाया जाता है। इस बार हनुमान जन्मोत्सव 23 अप्रैल 2024 को हैं।

मान्यता है कि हनुमान जी की भक्ति करने से सभी प्रकार के भय, रोग, पीड़ा और हर तरह की निगेटिव एनर्जी से मुक्ति मिलती हैं। वैसे हनुमान जी भाव के भूखें हैं। जो सच्चे मन से इनका गुणगान करता हैं उसकी बड़ी से बड़ी समस्या चुटकियों में हल हो जाती हैं। लेकिन हनुमान जन्मोत्सव पर बजरंगबली को कुछ खास चीजों का भोग लगाना चाहिए।

हनुमान जयंती के भोग (Hanuman Jayanti Bhog):

मीठी बूंदी: हनुमान जयंती के दिन बजरंगबली को बूंदी का भोग लगाया जाना चाहिए और फिर इसे परिवार सहित जरुरतमंदों में भी बांटे, संभव हो तो बंदर को भी बूंदी दें।

लाल फल- हनुमान जी को सेब, लीची जैसे लाल फल पसंद हैं। हनुमान जयंती पर बाबा को लाल सेब चढ़ाना शुभ फलदायी होता हैं।

इमरती या जलेबी: हनुमान जयंती पर बजरंगबली को प्रसन्न करने के लिए इमरती, जलेबी या मालपुए का भोग लगा सकते हैं।

गुड़-चना: हनुमान जयंती पर बजरंगबली को गुड़ चने का भोग लगाना सबसे शुभ माना गया हैं।

नियम और निषेध: हनुमान जयंती के दिन मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए।

किसी को अपशब्द ना कहें और बंदरों को परेशान ना करें।

सात्विक भोजन करें, तामसिक भोजन से बचें।

हनुमान जी की पूजा में दूध से बनी चीजों का भोग ना लगाएं।

ब्रह्मचर्य का पालन करें।

ध्यान रखें कि मूर्ति या तस्वीर खंडित ना हो।

इन सभी नियमों का पालन कर हनुमान जी को आपकी पूजा प्रसन्न करेंगे और आपको उनकी कृपा प्राप्त होगी।

यह भी पढ़ें:

हनुमान जी के नाम पर लड़कों के यूनिक नाम

हनुमान जयंती पर भूलकर भी न करें ये गलतियां

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें