nayaindia Chhath Puja 2021: छठ मैया के गीतों और आतिशबाजी से गूंजा आसमान
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | लाइफ स्टाइल | धर्म कर्म| नया इंडिया| Chhath Puja 2021: छठ मैया के गीतों और आतिशबाजी से गूंजा आसमान

उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ आज संपन्न हुई Chhath Puja, छठ मैया के गीतों और आतिशबाजी से गूंजायमान हो गया आसमान

Chhat Puja

नई दिल्ली | Chhath Puja 2021: छठ पूजा महापर्व के अंतिम दिन आज गुरूवार सुबह बड़ी संख्या में व्रतियों ने उगते सूर्य देव को ‘सूर्योदय अर्घ्य’ चढ़ाया। सूर्योदय के अर्घ्य के साथ ही 4 चार दिवसीय छठ महापर्व संपन्न हो गया। देशभर में लाखों व्रतियों ने सूर्य को अर्घ्य दिया और आस्था के पवित्र जल में डुबकी लगाकर सूर्य देव और छठ मैया की आराधना-उपासना की।

Chhath festival worship nature

छठ मैया के गीतों और आतिशबाजी से गूंजायमान हो गया आसमान
Chhath Puja 2021: देशभर में आज व्रतियों ने उगते सूर्य देव को अर्घ्य चढ़ाया। तड़के से ही घरों और घाटों पर छठ मैया के गीत बजने लगे। सुबह अंधेरे में ही पटाखों की आवाजों से आसमान गूंजायमान हो गया। आस्था की ज्योत लिए व्रती तड़के अंधेरे में ही घाटों और तालाबों पर छठ पूजा के लिए पहुंच गए। जैसे ही सूर्य देव ने दर्शन दिए लोगों ने उन्हें अर्घ्य दिया। इस दौरान जमकर आतिशबाजी भी हुई। देश के सभी हिस्सों में ऐसा ही माहौल रहा। इससे पहले बुधवार को डूबते सूरज को अर्घ्य दिया गया।

ये भी पढ़ें:- ‘भाजपा भगाओ, मंहगाई हटाओ’: कांग्रेस 14 नवंबर से पूरे उत्तर प्रदेश में 11 दिवसीय मार्च शुरू करेगी

व्रती रखते हैं दो दिन तक निर्जला उपवास
Chhath puja festival: सूर्योपासना का यह पर्व कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी से सप्तमी तिथि तक मनाया जाता है। चार दिन तक चलने वाले इस छठ महापर्व को मुख्यतः बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखंड में लोग ज्यादा मनाते हैं। बिहार में तो छठ पूजा के दौरान हर घर में आस्था की ज्योत जलती दिखाई देती है। व्रती दो दिन तक निर्जला उपवास रखते हैं। इस वर्ष छठ पर्व की शुरुआत सोमवार को स्नान यानी नहाय-खाय के साथ हुई। कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार भी छठ पूजा के महापर्व पर कोरोना प्रोटोकाॅल का असर दिखा।

ये भी पढ़ें:- न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को हराकर विश्वकप की हार का चुकाया बदला, T20 World Cup के फाइनल में पहुंची पहली बार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + ten =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
चार सौ दिन बनाम 31 सौ दिन!
चार सौ दिन बनाम 31 सौ दिन!