nayaindia Divya Dev-Deepawali in Kashi अयोध्या दीपोत्सव के बाद अब काशी में दिव्य देव-दीपावली की तैयारी
kishori-yojna
लाइफ स्टाइल | धर्म कर्म| नया इंडिया| Divya Dev-Deepawali in Kashi अयोध्या दीपोत्सव के बाद अब काशी में दिव्य देव-दीपावली की तैयारी

अयोध्या दीपोत्सव के बाद अब काशी में दिव्य देव-दीपावली की तैयारी

UP CM to launch portal for virtual 'Deepotsav'.

लखनऊ। अयोध्या (Ayodhya) में अलौकिक दीपोत्सव मनाने के बाद अब योगी सरकार काशी में दिव्य और भव्य देव दीपावली की तैयारियों में जुट गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने वाराणसी के मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा (Kaushal Raj Sharma) से देव दीपावली की तैयारियों के बारे में जानकारी ली है। साथ ही देव दीपावली के महा आयोजन को स्वच्छता अभियान से जोड़ने के लिए भी कहा है। मंडलायुक्त की ओर से बताया गया कि इस बार वाराणसी (Varanasi) में सात नवंबर को देव दीपावली (dev diwali) का महापर्व मनाया जाना है, जिसे लेकर उनकी ओर से सारी तैयारियां एडवांस में चल रही हैं। मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा के अनुसार आठ नवंबर को चंद्र ग्रहण के चलते देव दीपावली सात नवंबर को मनाये जाने का निर्णय लिया गया है। चूंकि पूर्णिमा तिथि 7 नवंबर से ही शुरू हो जा रही है, ऐसे में शास्त्रीय दृष्टिकोण से भी कोई परेशानी नहीं है। इस संबंध में काशी विद्वत परिषद् से भी विचार-विमर्श किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि देव दीपावली वाराणसी के 80 से ज्यादा घाटों पर मनाई जाती है, इसके अलावा गंगा के पूर्वी तट की रेती पर भी बड़ी संख्या में दीप जलाए जाते हैं।

इसबार गंगा के दोनों तरफ मिलाकार कुल 10 लाख दीए जलाए जाएंगे। साथ ही वाराणसी के प्रमुख मंदिरों, कुंडों और सरोवरों पर भी आकर्षक ढंग से दीप रौशन किए जाएंगे। मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा (Kaushal Raj Sharma) ने बताया कि देव दीपावली को लेकर सभी टेंडर पूरे कर लिए गए हैं। सभी संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक करके उन्हें जरूरी दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं। गंगा में अप्रत्याशित रूप से बढ़ाव के बाद अब पानी घटने का क्रम जारी है। इसके बाद घाटों की साफ सफाई कराई जाएगी। सभी जरूरी व्यवस्थाओं के लिए विभागों को स्पष्ट रूप से निर्देश दिए जा चुके हैं। इसके अलावा विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन तीन-चार दिन पहले से ही शुरू हो जाएगा। साथ ही देव दीपावली पर गंगा की भव्य महाआरती का आयोजन भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि देव दीपावली पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु देश-विदेश से वाराणसी आएंगे।

ऐसे में काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शनार्थियों की संख्या भी बढ़ेगी, जिसे देखते हुए हमने पहले से ही क्राउड कंट्रोल मैनेजमेंट को लेकर बैठक कर ली है और आवश्यक दिशा निर्देश दे दिए हैं। साथ ही वीआईपी और वीवीआईपी मूवमेंट को देखते हुए जिले के अलग अलग सरकारी गेस्ट हाउस में व्यवस्थाएं सुदृढ की जा रही हैं। सभी अधिकारियों को ड्यूटी बांट दी गई है और हमारी सारी तैयारियां एडवांस में चल रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने देव दीपावली पर्व के बाद वाराणसी के घाटों पर जलाए जाने वाले दीपों के समुचित निस्तारण के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि देव दीपावली के साथ ही लोगों में स्वच्छता को लेकर भी भाव पैदा हो, हमें ऐसी व्यवस्था करनी है। महापर्व के अलगे दिन बुझे हुए दीपक किसी भी हाल में नदी में ना फेंके जाएं। जिले के वरिष्ठ अधिकारी इस बात की स्वयं मॉनीटरिंग करें। (आईएएनएस)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − 1 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
लखनऊ में बहुमंजिला इमारत ढहने के मामले में जांच समिति गठित
लखनऊ में बहुमंजिला इमारत ढहने के मामले में जांच समिति गठित