लाइफ स्टाइल

ऑक्सीजन की भारी कमी को दूर करने के लिए घर में लगाए ये पौधे..घर की सुंदरता भी बढ़ाएंगे ये पौधे

यह कहना गलत नहीं होगा की पौधे हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण भाग है। बिना पौधे जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते है।भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। यह इतनी खतरनाक हो गयी है कि कोरोना के मरीजों को सांस लेने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर का सहारा लेना पड़ रहा है। इसी के चलते आजकल देश में ऑक्सीजन की इतनी कमी हो रही है। पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन ना मिलने के कारण भारत में इतने लोगों की जान जा चुकी है। लेकिन कुछ पौधे ऐसे होते है जो घर में भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध करवाता है।  सभी पौधे अपने आप में एक अलग विशेषता लिए होते है। इनमें से कुछ का प्रयोग हम औषधीय प्रयोजनों के लिये करते हैं तो कुछ अपने हवा को शुद्ध करने के गुण के लिये जाने जाते हैं। सभी पौधे ऑक्सीजन का उत्पादन करते हैं लेकिन कुछ कम मात्रा में तो कुछ अधिक मात्रा में। कुछ पौधे दिन एवं रात दोनों समय ऑक्सीजन का उत्पादन करते हैं। ऑक्सीजन की उत्पत्ति प्रकाश के उपस्थिति में कार्बन डाइऑक्साइड के अवशोषण से होता है। NASA के एक रिपोर्ट के अनुसार यह जाइलीन, फॉर्मल्डेहाइड, टोल्यूनि और नाइट्रोजन ऑक्साइड को हवा से शुद्ध करता है। NASA ने अपने अंतरिक्ष यात्रियों के लिये इन पौधों का उपयोग किया ताकि उन्हें अन्तरिक्ष में ताज़ा हवा प्राप्त हो सके। परंतु कुछ पौधे ऐसे होते हैं जो कई हानिकारक गैसों को अवशोषित कर के कई घंटों तक हमारे लिये ऑक्सीजन का उत्पादन करते हैं। साथ ही यह पौधे घर की सुंदरता को भी चार चांद लगा देंगे। आइये जाने कुछ ऐसे पौधों के बारे में।

इसे भी पढ़ें Corona Impact: जूम एप से मीटिंग और ऑनलाइन क्लासेज को बहुत देख लिये अब देखें ‘वर्चुअल शादी’

  1. नाग पौधा (Snake Plant)

इसकी खासियत यह है की यह रात को भी ऑक्सीजन उत्पन्न करता है, जो बाकी पौधों के मुकाबले अधिक होता है इस लिये इसे वायु साफ़ करने के लिये आदर्श माना जाता है। इसे आप कार्यस्थलों पर, घर में या सार्वजनिक स्थानों पर देख सकते हैं जो हवा से प्रदूषण की मात्र को कम करता है और प्रदूषण के कारण होने वाले किसी भी प्रकार के जलन, एलर्जी, मतली जैसी समस्याओं को रोकता है। इसे चीन के वास्तु जिसे फेंगशुई कहते हैं, के हिसाब से भी शुभ माना जाता है। इसे आप दक्षिण या पूर्व दिशा में भी रख सकते हैं। यह पौधा आपके घर को देखने में आकर्षक, अच्छे स्वास्थ्य, सकारात्मक शक्तियों आदि को आकर्षित करता है।

  1. ऐरेका पाम (Areca Palm)

इस पौधे को अपने वायु शुद्ध करने के गुण के लिये बहुत अच्छी तरह जाना जाता है, इसके अलावा यह देखने में भी बेहद खूबसूरत होते हैं। आज-कल ज्यादातर लोग AC चलने की वजह से अपने कमरों को पूरी तरह बंद कर देते हैं, इससे प्राकृतिक हवा किसी भी प्रकार से अन्दर नहीं आ पाता। इस समस्या से निपटने के लिये ज्यादातर लोग अपने कमरों में इस पौधे को लगते हैं। यह हवा में से अशुद्धियों को दूर करता है और आपको स्वच्छ और ताजी हवा प्रदान करता है। इस पौधे का जीवन काल 10 वर्ष का होता है। यह हवा से एसीटोन, टोल्यूनि जैसे विषैले तत्वों को निकालने के लिये जाना जाता है, ये सभी गैस आपके फेफड़ों के लिये बेहद नुकसानदायक होता है और ऐसा भी माना जाता है की यह छोटे बच्चों के तंत्रिका प्रणाली के विकास में बेहद मददगार होता है। इस लिये यदि ताजी हवा का आनंद लेना है तो इसे अपने घरों में अवश्य लगायें।

  1. सिंगोनियम (Syngonium)

ऐसा माना जाता है की ये बेहद ताकतवर होते हैं जो शायद ही कभी मरते हैं। इन्हें नेफथाइटिस, गोसेफूट, सिनागोनियम पोडोफाइलम आदि नामों से भी जाना जाता है और यह एक बेहतरीन इंडोर पौधा है जिसे लोग ताजी हवा के साथ-साथ अच्छी किस्मत के लिये भी घरों में रखना पसंद करते हैं।वे हर प्रकार की सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करते हैं और आपके घर से सभी प्रकार के तनाव और चिंता को दूर रखता है। यह सभी प्रकार के वायु अशुद्धियों को दूर करता है और आपको शुद्ध हवा प्रदान करता है। वे हवा से टोल्यूनि, बेंजीन आदि जैसी जहरीले अशुद्धियों को हटाता है। इसे रखते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखें की इन्हें सीधे धूप में न रखें नहीं तो यह सूख जाता है।

  1. क्रोटोन (Croton)

यह एक ऐसा पौधा है जिससे खास कर सजाने के लिये जाना जाता है। ये कई रंगों जैसे की लाल, पीला, नारंगी, आदि रंगों में उपलब्ध होते हैं और इनके मोहक रंगों के कारण ये बेहद आकर्षक दिखते हैं। ऐसा माना जाता है की इन्हें अपने बेडरूम में रखने से घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है। इसे घर में या कहीं भी रखते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखें की एक ही जगह रखें, बार-बार इसकी जगह को न बदलें इससे इनके पत्ते झड़ सकते हैं।इनके पास हवा को प्यूरीफाई करने की अद्भुत क्षमता होती है और यह हवा में मौजूद हर प्रकार के हानिकारक तत्वों को सोख लेता है और आपको बिलकुल ताजी हवा प्रदान करता है। इस लिये यदि आप कोई इंडोर प्लांट लेने का मन बना रहे हैं तो यह आपके लिये एक अच्छा विकल्प है।

  1. मनी प्लांट (Money Plant / Epipremnum aureum – Devil’s Ivy)

यह एकमात्र ऐसा पौधा है जो सभी के घर में पाया जाता है। यह एक ऐसा पौधा है जिसे बच्चे बड़े सब जानते हैं और इसकी वजह शायद इसका नाम ही है, जिसे पढ़ कर ऐसा लगता है मानो इनपर पैसे ही उगते होंगे परंतु यह नाम मात्र है। इसे आप आसानी से लोगों के घरों में देख सकते हैं और इनके कई अन्य नाम हैं जैसे की एपिप्रेमनम ऑरियम, डेविल्स आइवी, गोल्डन पोथोस व कई अन्य। ये सदाबहार पौधा है और इसके पत्ते दिल के आकर के होते हैं, जो देखने में बेहद आकर्षक होते हैं। ऐसी मान्यता है कि मनी प्लांट को घर में रखने से वास्तु-दोष से मुक्ति मिलती है। इन्हें हवा से विभिन्न प्रकार की अशुद्धियों को भी दूर करने के लिये जाना जाता है। इनमें अधिक ऑक्सीजन उत्पादन की भी अद्भुत क्षमता होती है। फेंगशुई के अनुसार ये आपके घर सौभाग्य भी लाता है। ऐसा पाया गया है की ये तनाव और अनिद्रा को भी दूर करने में सहायक होता है।

इसे भी पढ़ें Corons Vaccine and Periods : क्या कोरोना वैक्सीन महिलाओं के मासिक धर्म पर कर सकती है असर..PIB और डॉक्टरों ने की इस बात की पुष्टि

  1. चायनीज़ एवरग्रीन्स (Chinese Evergreens)

इसे बेहद मजबूत पौधे के रूप में चिन्हित किया गया है क्यों की इसे अधिक देखभाल की आवश्यकता नहीं होती। यह एक इंडोर पौधा है और किसी भी परिस्थिति में यह जीवित रहता है। इनके बड़े और हरे पत्ते बेहद आकर्षक दिखते हैं साथ ही साथ इसकी हवा को शुद्ध करने का गुण कई बीमारियों को भी दूर करता है। यह हवा से फॉर्मल्डेहाइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, बेंजीन जैसे हानिकारक तत्वों को हटाता है और आपको बेहद ताजा हवा देता है। जब हम शुद्ध वातावरण में सांस लेते हैं तो यह हमारा मूड बदल देता है और हम बेहतर महसूस करने लगते हैं, इससे तनाव भी कम होता है। इन्हें अधिक धूप की आवश्यकता नहीं होती इसके साथ ही इनमें अधिक पानी, उर्वरक, आदि की भी आवश्यकता नहीं होती।

  1. ड्रेकेना फ्रेग्रेंस (Dracaena Fragrans)

ड्रेकेना को अपने आकर्षक लुक के लिये जाना जाता है और इन्हें NASA द्वारा सबसे अधिक ऑक्सीजन देने वाले पौधे के रूप में चिन्हित किया गया है। यह हवा से 80% तक अशुद्धियों को साफ़ कर सकता है जिससे आपके घर की हवा स्वच्छ और ताज़ा बनी रहती है। दूषित हवा से श्वसन और गुर्दे की बीमारियों का खतरा अधिक रहता है इन सब के लिये यह पौधा बेहद लाभकारी होता है। स्वच्छ हवा में नमी होती है और इससे आपके घर का तापमान ठंडा रहता है, यह कई हानिकारक गैसों जैसे की बेंजीन, ट्राईक्लोरोइथीलीन, कार्बन डाइऑक्साइड, आदि के अच्छे शोषक होते हैं।

  1. स्पाइडर प्लांट (Spider Plant)

यह उन विशेष इंडोर पौधों में से एक है जो हवा से कार्बन की अशुद्धियों को बखूबी दूर करता है और आपके घर में एक प्राकृतिक वायु शोधक के रूप में काम करता है। NASA ने 80 के दशक में ही इस पौधे के हवा शुद्ध करने के गुणों को साबित कर दिया था। जैसा की हम जानते हैं की हमारे कमरों की हवा बाहर की हवा की तुलना में अधिक प्रदूषित होते है, और ऐसी स्थिति में इसे दूर करने के लिये हवा साफ़ करने वाला कोई यन्त्र आपके पास होना चाहिए। इससे बेहतर यह होगा की आप प्राकृतिक हवा शुद्धिकरण को अपनाएं और इस प्रकार के इंडोर पौधों को अपने घरों में लगायें। इन्हें बेहद आसानी से उगाया जा सकता है और इनकी देखभाल में अधिक झंझट भी नहीं रहता।

  1. एलोवेरा (Aloe Vera)

यह एक ऐसा गुणकारी पौधा है जो अपने साथ कई लाभ लिये घूमता है। इसके कई गुण है जैसे की इसके भीतर एक प्रकार का जेल होता है जिससे त्वचा संबंधित सभी प्रकार के विकारों को सही किया जा सकता है। जलने, काटने आदि पर भी इसका जेल बेहद असरकारी रहता है। इन सब के अतिरिक्त इस पौधे का इस्तेमाल हवा को शुद्ध करने के लिये भी होता है। NASA के रिपोर्ट के अनुसार इसमें हवा को शुद्ध करने के बेहतरीन शक्ति होती है और वह अपने अंतरिक्ष यात्रियों को स्वच्छ हवा प्रदान करने के लिये इस पौधे का उपयोग भी करते हैं। एलोवेरा हवा से कार्बनिक यौगिकों को निकालता है और उसमें मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करता है और प्रचुर मात्रा में ऑक्सीजन प्रदान करता है।

  1. इंग्लिश इवी (English Ivy)

इसे हेडेरा हेलिक्स के नाम से भी जाना जाता है, ये आपके बगीचे या बालकनी को सजाने के लिये बेहद काम आते है देखने में भी आकर्षक दिखते हैं। यह घर में सीलन नहीं लगने देते और वायु को शुद्ध करने के गुण के लिये भी जाने जाते हैं। ये असाधारण गुणों वाले साधारण पौधा है। इसे जरूर आजमायें और यह आपको निराश नहीं करेगा।

  1. लेडी पाम (Lady Palm)

यह सबसे आकर्षक शो प्लांट में से एक है जिसे आपने होटल, सार्वजनिक स्थानों, बगीचों में जरूर देखा होगा। इनकी पत्तियां पंखों जैसी होती हैं और देखने में बेहद मजबूत होती हैं। ये हवा से फॉर्मल्डेहाइड और अमोनिया जैसे तत्वों को हटाने में मददगार होता है और अपने आस पास की हवा की गुणवत्ता को भी सुधारता है। हवा में फॉर्मल्डेहाइड की मौजूदगी से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियां हो सकती हैं परंतु लेडी पाम इस प्रकार के गैसों को आसानी से अवशोषित कर लेता है। इन्हें आप आसानी से अपने घर में भी रख सकते हैं।

  1. पाथीफाइलम (पीस लिली – Pathiphyllum)

पौधों में मौजूद गहरा हरा रंग अपने साथ सकारात्मक ऊर्जा लाते हैं और पौधों के अपने कुछ गुणों के कारण वे स्वतः इसके महत्व को और बढ़ा देते हैं। इनके अन्दर हवा शुद्ध करने के भी विशेष गुण होते हैं। यह पौधा हवा से ट्राईक्लोरोइथीलीन, बेंजीन, ज़ाइलीन, फॉर्मल्डेहाइड, टोल्यूनि और अमोनिया जैसी अशुद्धियों को दूर करने में सहायक होता है। इसे आप अपने घर में सजा सकते हैं और यह आपकी ड्राइंग रूम को बेहद आकर्षक बनात है।

  1. बोस्टन फर्न (Boston Fern)

आमतौर पर पौधे दिन में प्रकाश संश्लेषण करते हैं, सूर्य में प्रकाश की उपस्थिति में वे कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करते हैं और आक्सीजन छोड़ते हैं। बोस्टन फर्न सबसे लोकप्रिय शो प्लांट में से एक है। वे बेंजीन और फॉर्मल्डेहाइड के अच्छे शोषक होते हैं, और ऐसे गैस आपके घर में आसानी से मिल जाते हैं। कई बार इन हानिकारक गैसों का मुख्य स्रोत प्लास्टिक, सिगरेट, आदि से निकलने वाला धुआं होता है। बोस्टन फर्न को इसके हवा शुद्ध करने के गुणों के लिये भी जाना जाता है, इन्हें धूप के सीधे संपर्क में लाने की आवश्यकता नहीं होती यह आसानी से कमरे के अन्दर भी बढ़ सकते हैं। बस एक बात का हमेशा ध्यान रखें की इनके जड़ों में नमी हो बाकी इनकी देखभाल करना भी बेहद आसन होता है।

  1. वीपिंग फिग (Weeping Fig)

दक्षिणी एशिया के मूल से जन्मा वीपिंग फिग बेहद संवेदनशील होते हैं और वे आसानी से इनकी जगह के परिवर्तन या रोशनी के कम-ज्यादा होने, नाइट्रोजन की कमी आदि से प्रभावित हो जाते हैं। अनियमित जल आपूर्ति भी इन्हें प्रभावित करती है इसलिये इनका उचित देखभाल आवश्यक होता है। इतनी सावधानी से आपको क्या प्राप्त होगा? दरअसल इनमें हवा को शुद्ध करने की अद्भुत क्षमता होती है जो आपके घर से बेंजीन, ज़ाइलिन, आदि जैसी जहरीली गैसों को हटाने में मददगार होते हैं। यह वायु को शुद्ध करने के अलावा अपने साथ कुछ औषधीय गुणों को भी लिये रहती है और इसकी पत्तियां किसी भी प्रकार के घाव या कटे को ठीक करने में निपुण होती हैं।

इसे भी पढ़ें Corona Vaccine : डेटिंग ऐप्स पर साथी खोजना चाहते हैं तो पहले लगवाना होगा कोरोना का टीका

Latest News

ऐसा क्या हुआ कि उत्तरी कोरिया के लोग कब्र में से मांस निकालकर खाने लगे ..
उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन एक बार फिर चर्चाओं में बने हुए है। कोरोना काल में दुनिया के सभी देशों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट | देश

Third Phase Of Vaccination : तीसरे चरण के पहले ही दिन रिकार्ड तोड़ वैक्सीनेशन, शाम के 3 बजे तक ही लग गये इतने टीके

नई दिल्ली | भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू कर दिया गया है. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर शुरू हुए इस तीसरे चरण के पहले ही दिन रिकॉर्ड वैक्सीन लगाई गई. शाम के 3:00 बजे तक देश भर में 47.5 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना के टीका लगाया गया. इसके पहले दी जा रही टीकों की गति से यदि इसकी तुलना करें तो यह कहीं अधिक है. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रिय मोदी ने भी देश को संबोधित करते हुए कहा है कि आज से वैक्सीन के तीसरे चरण की शुरुआत की जा रही है. जहां लोगों को मुफ्त टीका दिया जाएगा. इस संबंध में देश गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हमें टीकाकरण की गति को और तेज करना है जिससे जल्द से जल्द देश भर में टीकाकरण का काम जल्दी संपन्न हो सके.

16 से 30 जनवरी के बीच चला था पहला टीकाकरण अभियान

भारत में पहला टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से 30 अप्रैल तक के लिए चलाया गया था. इस दौरान केंद्र सरकार द्वारा वैक्सीन उत्पादक कंपनियों से भारत सरकार ने 100% टीके की खरीदी की. इस दौरान भी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भारत सरकार ने मुफ्त वैक्सीन दी. पहले चरण के टीकाकरण अभियान के दौरान सबसे पहले फ्रंट लाइन वर्कर्स और उसके बाद 45 साल से ज्यादा उम्र वाले लोगों को कोरोना का टीका दिया गया. देशभर के सरकारी अस्पतालों में 45 वर्ष से अधिक लोगों को टीका देने की शुरुआत के बाद दूसरा चरण शुरू किया गया.

इसे भी पढ़ें – International Yoga Day : कांग्रेसी नेता ने कहा-ॐ के उच्चारण से ताकतवर और अल्लाह कहने से कमजोर नहीं होता योग, तो BJP सांसद ने दिया मजेदार जवाब

1 मई से हुआ नियमों में हुआ बदलाव

पहले चरण के बाद 1 मई से भारत सरकार ने नियमों में बदलाव किया. 1 मई से भारत सरकार ने टीका निर्माता कंपनियों से 50% वैक्सीन की खरीदारी की. बाकी बचे हुए 50% वैक्सीन की खरीदारी राज्य सरकार और निजी अस्पतालों में प्रत्यक्ष रुप से वैक्सीन उत्पादक कंपनियों से उसे दूसरे चरण में देश भर में 18+ उम्र के लोगों के लिया भी टीकाकरण की घोषणा कर दी. हालांकि पीएम मोदी ने अपने 7 जून के संबोधन के दौरान देशभर में मुफ्त वैक्सीनेशन का ऐलान किया.

इसे भी पढ़ें- बड़े खेला की तैयारी : गैर कांग्रेस विपक्ष के नेताओं को सबंधित करेंगे शरद पवार

Latest News

aaऐसा क्या हुआ कि उत्तरी कोरिया के लोग कब्र में से मांस निकालकर खाने लगे ..
उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन एक बार फिर चर्चाओं में बने हुए है। कोरोना काल में दुनिया के सभी देशों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *