संविधान की शपथ लेकर किया विवाह

खरगोन। मध्यप्रदेश के खरगोन जिला मुख्यालय पर एक युवक-युवती खर्चीली शादियों को रोकने का संदेश देने के लिए संविधान की शपथ लेते हुए एक दूजे के हो गए।

सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक तथा पेशे से कॉन्ट्रैक्टर कसरावद निवासी 26 वर्षीय वज्र कलमे ने बीती रात खरगोन की अंजलि रोकड़े (24) से चंद मिनटों के भीतर ही बेहद सादे समारोह में विवाह कर लिया। इस विवाह में उन्होंने किसी भी रीति रिवाज, लेन देन, दहेज, पटाखे, प्लास्टिक डिस्पोजल्स से गुरेज रख संविधान की प्रति की शपथ लेते हुए इसे संपन्न किया।

मित्रों के उत्साह के मद्देनजर बैंड बाजों के साथ केवल थोड़ी देर के लिए नृत्य हुआ। वज्र ने बताया कि समाज में फैले अंधविश्वास, कुरीतियों व खर्चीली शादियों के चलते लोग क्षमता से अधिक खर्च कर कर्ज में डूब जाते हैं। इसे रोकने के लिए उन्होंने इस तरह की शादी करने का फैसला किया, और देश में सर्वोच्च माने जाने वाले संविधान की शपथ के साथ कुंदा नदी के तट पर स्थित एक धर्मशाला में इसे संपन्न किया।

उन्होंने बताया कि उनकी बड़ी बहन व एक भाई की शादी में भी दहेज प्रथा को नहीं अपनाया गया था। शिक्षक पिता की मृत्यु के उपरांत उनकी देह को कलमे परिवार ने मेडिकल कॉलेज को दान कर एक मिसाल कायम की थी। वज्र ने कहा कि वे आर्थिक रूप से सक्षम हैं, इसलिए उन्होंने अनुकंपा नियुक्ति न लेते हुए अपनी आय का 20 प्रतिशत निशुल्क कोचिंग कराने वाली संस्था को देने का फैसला लिया और विगत कुछ वर्षों में 1500 छात्र इससे लाभान्वित हुए हैं तथा कई लोगों को रोजगार मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares