शाह ही लड़वाएंगे बंगाल का चुनाव

जगत प्रकाश नड्डा ने भले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर कमान संभाल ली है पर भाजपा के जानकार नेताओं का कहना है कि अगले साल होने वाला पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव लड़ाने की जिम्मेदारी अमित शाह ही संभालेंगे। भाजपा के जानकार नेताओं का कहना है कि अमित शाह बांग्ला सीख रहे हैं। जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में स्थानीय भाषा का इस्तेमाल करते रहे हैं उसी तरह अमित शाह भी करना चाह रहे हैं। पर वे सिर्फ अभिवादन तक या एक-दो लाइन बोलने तक सीमित नहीं रहना चाहते हैं। वे पूरी भाषा सीख रहे हैं। सुषमा स्वराज जब सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने कर्नाटक के बेल्लारी गई थीं तब उन्होंने कन्नड़ भाषा सीखी थी।

बहरहाल, भाजपा को पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ ध्रुवीकरण की रणनीति के तहत ही चुनाव लड़ना है। तभी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और प्रभारी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का समूचा भाषण इसी लाइन पर होता है। वे किसी न किसी बहाने ममता बनर्जी की मुस्लिम तुष्टिकरण करने वाले नेता की छवि उभारते रहते हैं। यह भी माना जा रहा है कि नागरिकता कानून को लेकर सबसे ज्यादा अमित शाह फोकस में आए हैं इसलिए अगर बंगाल के प्रचार में उनका चेहरा रहता है तो भाजपा को हिंदू वोट एकजुट करने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी। ऊपर से वे बांग्ला बोल कर वोट मांगेंगे तो ममता बनर्जी की भाषा और अस्मिता की राजनीति का जवाब भी दिया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares