जर्मनी में नया सियासी संकट

चांसलर अंगेला मैर्केल की सीडीयू पार्टी की प्रमुख और जर्मनी की रक्षा मंत्री आनेग्रेट क्रांप कारेनबावर अब उनके बाद चांसलर पद की उम्मीदवार नहीं होंगी। हाल ही में सीडीयू पार्टी को एक राज्य थुरिंजिया में जिस तरह के आरोपों का सामना करना पड़ा, उसके बाद कारेनबावर ने अपने पद से इस्तीफा देने का फैसला किया। इस तरह जर्मनी में एक नया राजनीतिक संकट खड़ा हो गया है। यूरोप आर्थिक मंदी और धुर दक्षिणपंथी ताकतों के उभार के कारण पहले से हिचकोले खाता रहा है। अब सबसे बड़े देश से मिल रहे संकेत भी चिंता बढ़ाने वाले हैं। हाल ही में थुरिंजिया प्रांत के गवर्नर पद के लिए मुक्त व्यापार समर्थक एफडीपी पार्टी के सदस्य का समर्थन धुर दक्षिणपंथी पार्टी एएफडी पार्टी के साथ-साथ मैर्केल की सीडीयू ने भी कर दिया। एक ही उम्मीदवार के पक्ष में वोट देने के कारण सीडीयू और एएफडी एक ही पाले में खड़े नजर आए। एएफडी पर नाजीवादी होने के आरोप हैं। इस घटनाक्रम के कारण सीडीयू और एएफडी पार्टियों की कड़ी आलोचना हुई। जर्मन राजनीति में मुख्यधारा की किसी भी प्रमुख पार्टी का धुर दक्षिणपंथी पार्टियों को समर्थन देना एक वर्जित और विवादास्पद विषय रहा है। 57 साल की कारेनबावर ने दिसंबर 2018 में मैर्केल से सीडीयू प्रमुख की कुर्सी संभाली थी। सीडीयू यानी क्रिश्चियन डेमोक्रेटिक यूनियन ने कहा है कि जल्द ही नए उम्मीदवार की खोज शुरू की जाएगी। अगले कुछ महीनों में उसे एक ऐसा नया नेता चुनना होगा, जो पार्टी का प्रमुख और चांसलर पद का नया उम्मीदवार होगा। चांसलर मैर्केल कारेनबावर को रक्षा मंत्री के पद पर बनाए रखना चाहती हैं। जुलाई 2019 में उन्होंने यह पद संभाला था। जर्मनी में अगले आम चुनाव 2021 में होने हैं। लेकिन हो सकता है कि उसके पहले ही सीडीयू-सीएसयू और एसपीडी के महागठबंधन वाली सरकार तब तक ऐसे ही ना चल पाए। थुरिंजिया में हुई घटना को खुद मैर्केल “अक्षम्य” और उसके नतीजों को “पलटना जरूरी” बता चुकी हैं। जानकारों का मानना है कि पार्टी के भीतर चांसलर पद के लिए अब फ्रीडरिष मेर्त्स और येन्स श्पान के नामों पर चर्चा हो सकती है। कारोबारी मेर्त्स ब्लैकरॉक के एसेट मैनेजमेंट का काम छोड़ कर राजनीति पर ध्यान लगा रहे हैं। वहीं श्पान देश के स्वास्थ्य मंत्री हैं। नेता अब चाहे जो बने, यह साफ है कि सीडीयू पार्टी में फिलहाल अस्थिरता पैदा हो गई है। इसका असर पूरे देश पर पड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares